गोवा: गोवा सरकार में 80 अकाउंटेंट की पोस्ट के लिए 8000 कैंडिडेट्स ने परीक्षा दी थी. लेकिन हैरानी की बात ये है कि इन कैंडिडेट्स में से कोई भी पास नहीं हो सका. जिन लोगों ने परीक्षा दी थी वे सभी ग्रेजुएट थे. परीक्षा में पास होने के लिए 100 में से कम से कम 50 नंबर लाने थे जो कोई कैंडिडेट नहीं ला सका. यह जानकारी एक गोवा के ही एक अधिकारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर बताई है।

गोवा के अकाउंट्स के डायरेक्टर ने कल एक नोटिफिकेशन जारी किया था. इस नोटिफिकेशन में उन्होंने बताया कि इस साल 7 जनवरी में हुई इस परीक्षा में कोई भी कैंडिडेट पास होने लायक भी नंबर नहीं ला सका है. इस परीक्षा में अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान और अकाउंट्स से संबंधित सवाल पूछे जाने थे।

हालांकि सफल रहे कैंडिडेट्स को फाइनल सिलेक्शन से पहले एक इंटरव्यू भी देना था. वहीं आम आदमी पार्टी के गोवा के महासचिव प्रदीप पडगांवकर ने परीक्षा के रिजल्ट को देरी से घोषित करने की निंदा की है. साथ ही कहा है कि सभी 8000 कैंडिडेट्स का फेल हो जाना राज्य की शिक्षा प्रणाली का पतन है और वहां के विश्वविद्यालयों पर भी निशाना साधा है।