वॉशिंगटनः अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की कुर्सी पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। आने वाले समय में  ट्रंप को मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। चुनाव अभियान के पूर्व सलाहकार ने आज आगाह किया कि  ट्रंप के पूर्व अधिवक्ता माइकल कोहेन द्वारा जुर्म स्वीकार किए जाने के कारण राष्ट्रपति को कुछ महीनों में महाभियोग का सामना करना पड़ सकता है। ट्रंप के लिए काम करने वाले कोहेन ने मंगलवार को कर धोखाधड़ी, बैंकों को झूठे बयान देने और प्रचार अभियान में वित्तीय उल्लंघनों समेत आठ आरोप स्वीकार किए थे।

साल 2016 में ट्रंप के राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव प्रचार अभियान के संचार सलाहकार रहे माइकल कैपुटो ने कहा, ‘‘डेमोक्रेट्स को महाभियोग के लिए इन सबकी जरुरत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर मध्यावधि चुनाव के दौरान डेमोक्रेट्स को सदन में बहुमत मिल जाता है तो यह राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग चलाने के वास्ते उनके लिए पर्याप्त होगा।’’

कैपुटो ने यह भी कहा कि उनका मानना है कि नवंबर में होने वाले मध्यावधि चुनाव अहम होगा क्योंकि यह निर्धारित करेगा कि मतदाता महाभियोग का समर्थन करते हैं या विरोध। कोहेन और ट्रंप के पूर्व अभियान प्रबंधक पॉल मैनाफोर्ट को मंगलवार को न्यूयॉर्क और वर्जीनिया की अदालतों ने दोषी ठहराया। 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में रूस के कथित हस्तक्षेप को लेकर चल रही एफबीआई की जांच से ये आरोप सामने आए थे।