गुवाहाटी: 1 किलो चाय ज्यादा से ज्यादा 1 हजार रुपए किलो हो सकती है। क्या आपको मालूम है कि अरुणाचल प्रदेश में एक किलो चाय नीलामी में 40 हजार रुपए किलो के भाव में बिकी है। अरुणाचल प्रदेश ने बाजार में सबसे महंगी चाय पेश करने के मामले में असम का रिकार्ड भंग कर दिया है। पूर्वोत्तर के इस राज्य में उत्पादित चाय गुवाहाटी के चाय नीलामी केंद्र पर 40,000 रुपए प्रति किलो ग्राम के भाव बिकी जो एक विश्व रिकार्ड है।

इससे पहले पिछले महीने असम की एक किस्म की चाय को नीलामी में 39,001 रुपए प्रति किलोग्राम का भाव मिला था। गुवाहाटी चाय नीलामी केंद्र के क्रेताओं के संघ के सचिव दिनेश बिहानी ने एक बयान में कहा कि अरुणाचल प्रदेश के डोनीई पोलो चाय बागान में उगाई गयी गोल्डन नीडल्स किस्म की चाय कल हुई नीलामी में 40,000 रुपए प्रति किलोग्राम के भाव पर बिकी। इसे असम के एक चाय व्यापारी ने खरीदा जो प्रदेश में चाय की सबसे पुरानी दुकानों में एक का परिचालक है।

जुलाई की नीलामी में असम की एक किस्म की चाय 39,001 रुपए किलो के भाव पर नीलाम हुई थी। बिहानी ने कहा कि गोल्डन नीडल्स किस्म की चाय को पानी में उबालने पर काढ़े का रंग चमकदार सुनहरा दिखता है। इसका स्वाद मीठा है और खुशबू बहुत अच्छी है।

बिहानी ने कहा कि विशेष किस्म की चाय के अब अपेक्षाकृत ज्यादा ग्राहक आ रहे है। हमें उम्मीद है कि ऐसी किस्म की चाय की बदौलत हम दुनिया के चाय बाजार में अपना पुराना गौरव फिर हासिल कर सकेंगे। असम के एक चाय व्यापारी ललित कुमार जलान के हवाले से कहा गया है कि अच्छी किस्म की चाय की मांग बढ़ रही है। हम विशिष्ट प्रकार की चाय की बराबर बिक्री कर रहे है।

अरुणाचल प्रदेश की गोल्ड नीडल्स किस्म की इस चाय को आगे एक ऑनलाइन प्लेटफार्म www.absolutetea.in के जरिए बेचा जाएगा। डोनीई पोलो बागान के मनोज कुमार ने कहा कि इस तरह की चाय तैयार करने में बहुत मेहनत लगती है।