बिजी लाइफस्‍टाइल की वजह से बढ़ते टेंशन और अपनों से बढ़ती दूरी की वजह से प्रफेशनल कडलर्स यानी आपको गले लगाने वाले लोगों की डिमांड भी बढ़ रही है. ऐसे ही महिला की स्टोरी वायरल हो रही है, यह महिला अनजान लोगों को गले लगाती है. अनजान लोगों को गले लगाना इस महिला का प्रफेशन है और वह इससे 45 हजार पाउंड यानी लगभग 40 लाख रुपये त‍क कमा रही है.

ऑस्‍ट्रेलिया की क्‍व‍िंसलैंड की रहने वाली जेसिका ओ नील ने इस प्रफेशन की शुरुआत 6 महीने पहले की और वह 860 पाउंड हर सप्‍ताह कमा लेती है. जेसिका ओ नील ऑस्‍ट्रेलिया की क्‍व‍िंसलैंड के गोल्‍ड कोस्‍ट में 10 साल से मसाज सेंटर चलाती हैं. इसी सेंटर में उन्‍होंने यह सुविधा को जोड़ा है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जेसिका ओ नील  ने बताया है कि वह एक घंटे तक गले लगाने के लिए 45 पाउंड तक चार्ज करती है. जेसिका ओ नील के अनुसार गले लगाने की थैरेपी से अकेला महसूस करने वाले लोगों और डिप्रेशन से जूझ रहे लोगों को फायदा पहुंचता है. उनको महसूस होता है कि कोई उन्‍हें प्‍यार कर रहा है और सम्‍मान दे रहा है.

जेस‍िका के अनुसार वह हमेशा से भावनात्‍मक इंसान रही हैं और उन्‍हें लोगों को गले लगाना पसंद है. उनके अनुसार जब उनकी मां उन्‍हें गले लगाती थी तो लगता था सब कुछ सही है. यही वजह है कि वह अनजान लोगों को भी गले लगाने से हिचकती नहीं है. उनके अनुसार अब तक गले लगाने का एक्‍सपेरिमेंट उनके लिए अच्‍छा रहा है. लोग उन्‍हें काफी प्‍यार और सम्‍मान देते हैं.

जेस‍िका के अनुसार उनके पति को भी उनके इस प्रफेशन से एतराज नहीं है. अनजान लोगों को गले लगाने की बात से उनके पति भी काफी कूल हैं और वह जेसिका के फैसले में साथ देते हैं.  जेसिका ओ नील के तीन बच्‍चे भी हैं.

जेसिका के ज्‍यादातर कस्‍टमर पुरुष होते हैं. सिर्फ गले लगाने के लिए जेसिका 46 पाउंड, गले लगाने के साथ काउंसलिंग के लिए 63 पाउंड और फ्रेंडश‍िप स्‍टाइल में कॉफी और गले लगाने के लिए 86 पाउंड चार्ज करती हैं.

जेसिका कहती हैं कि वर्तमान में उनके ज्‍यादातर क्‍लाइंट 35 साल से बड़े पुरुष हैं, लेकिन महिलाओं और युवाओं की संख्‍या भी तेजी से बढ़ रही है जो अकेला महसूस करते हैं. आपको बता दें कि गले लगाने से पहले जेसिका क्‍लाइंट के साथ मेडिटेशन करती हैं और क्‍लाइंट के कम्‍फर्टेबल होने पर बात करते हुए उन्‍हें गले लगाती है.

जेसिका बताती हैं कि गले लगाने के सेशन से कई बार पोर्न और सेक्‍स एड‍िक्‍ट को भी अपने बॉडी को सही ढंग से समझने में मदद मिलती है.