जकार्ताः भारत के लिए 18वें एशियाई खेलों में एथलेटिक्स की महिलाओं की 200 मीटर स्पर्धा में मंगलवार को खुशी और सदमे का दिन रहा। 100 मीटर की रजत विजेता दुती चंद ने अपनी सेमीफाइनल रेस में शीर्ष स्थान हासिल कर फाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया जबकि 400 मीटर की रजत विजेता हिमा दास फाल्स स्टार्ट के कारण अयोग्य करार दे दी गयीं।  

महिलाओं की 200 मीटर दौड़ के सेमीफाइनल में सनसनीखेज परिणाम देखने को मिले। 100 मीटर में फोटो फिनिश में रजत हासिल करने वाली दुती ने 200 मीटर में फोटो फिनिश में ही अपनी सेमीफाइनल हीट में पहला स्थान हासिल किया। दुती ने 23.00 सेकंड का समय लिया जबकि 100 मीटर की स्वर्ण विजेता बहरीन की एडिडियोंग ओडियोंग 23.01 सेकंड का समय लेकर दूसरे स्थान पर रहीं।  

इस स्पर्धा की दूसरी सेमीफाइनल हीट में भारत को तब झटका लगा जब हिमा को गलत स्टार्ट के कारण बाहर हो जाना पड़ा। इस रेस में एक नहीं बल्कि दो एथलीट अयोग्य करार दी गयीं। रेस शुरू होते ही हिमा फाल्स स्टार्ट की शिकार हो गयीं और उन्हें ट्रैक से बाहर होना पड़ा।

रेस को दोबारा शुरू किया गया तो बहरीन की हजर अल्खालदी भी फाल्स स्टार्ट की शिकार होकर ट्रैक से बाहर कर दी गयीं। दो एथलीटों के बाहर होने के बाद छह एथलीटों के साथ यह सेमीफाइनल हीट पूरी की गयी। फाइनल के लिये क्वालीफाई करने वाली आठ एथलीटों में दुती का 23.00 सेकंड का समय सर्वश्रेष्ठ रहा। इससे पहले दुती ने 200 मीटर के क्वालिफिकेशन में 23.37 सेकंड का समय लेकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी जबकि हिमा ने 23.47 सेकंड का समय लिया था। लेकिन सेमीफाइनल हिमा के लिये दिल तोडऩे वाला रहा।

वहीं दूसरी ओर वीमंस 200 मीटर के सेमीफाइनल में भारत की दुती चंद ने 23.00 सेकंड का समय लेकर शीर्ष पर रहते हुए फाइनल में लिए क्वालिफाई किया। मात्र .01 सेकंड के अंतर से उन्होंने इडीडीओंग ओडीओंगी को पीछे छोड़ा, जिन्होंने .02 सेकंड के अंतर से उनसे गोल्ड दूर कर दिया था।