नई दिल्ली: अपने देश का तिरंगा शान से फहरते देखना किसे अच्छा नहीं लगता, और ये जब झंडा अपने प्रतिद्वंदी देशों से भी ऊपर लहरा रहा हो तो सीना गर्व से और भी ऊंचा हो जाता है. ऐसा ही नजारा इंडोनेशिया के जकार्ता में चल रहे एशियन गेम्स में देखने को मिला. पूरे देश का सीना उस वक्त गर्व से फूल गया जब भारत की शान तिरंगा पड़ोसी देश पाकिस्तान और चीन से ऊपर लहरा रहा था.

दरअसल भाला फेंक प्रतिस्पर्द्धा में नीरज चोपड़ा ने 88.06 मीटर भाला फेंककर गोल्ड पर निशाना लगाया. नीरज ने गोल्ड तो अपने नाम किया ही साथ ही किसी प्रतियोगी देश को अपने आस पास भी फटकने नहीं दिया. इस प्रतियोगिता में उसके दो प्रतिद्वंदी देश पाकिस्तान और चीन थे. इस प्रतियोगिता में चीन दूसरे स्थान पर रहा. चीन के खिलाड़ी लियु क्विझेन ने 82.22 मीटर भाला फेंककर रजत जीता. वही पाकिस्तान के खिलाड़ी अरशद नदीम ने 80.75 मीटर फेंककर तीसरे स्थान पर रहा और उसे कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.

इसके बाद पुरस्कार वितरण के दौरान भारत का तिरंगा चीन और पाकिस्तान से ऊपर लगाया गया. पाकिस्तान और चीन के साथ भारत के आर्थिक और राजनीतिक रिश्तों में हमेशा से गर्माहट रही है. ऐसे में जिन देशों को हराकर हमें यह मेडल मिला है उसने इस मेडल की खुशी दो गुनी कर दी है.