महाराष्ट्र: रक्षा बंधन के मौके पर साधना पाटील नामक महिला सतारा जिले के मांडवे गांव में अपने भाई सुनील खाडे के घर आई थी. गांव में चोरी की घटनाएं होती रहती हैं. महिला को डर था कि रात को नींद में कहीं चोर उसका पांच तोले का मंगलसूत्र ना चुरा ले जाएं इसलिए महिला ने होशियारी दिखाते हुए भैंस के चारे में मंगलसूत्र छिपा दिया था. इसके बाद वो निश्चित होकर सो गई. सुबह उठकर सबसे पहले उसे अपने मंगलसूत्र की याद आई. भागी भागी भैंस के चारे को टटोला तो होश उड़ गए क्योंकि चारा तो भैंस खा गई थी. यही नहीं चारे के साथ भैंस ने डेढ़ लाख रुपये का मंगलसूत्र भी निगल लिया था.

घटना सतारा जिले के मांडवे गांव की है. चारे में मंगलसूत्र न पाकर महिला बुरी तरह परेशान हो गई.  बहन को परेशान देखकर दुखी भाई ने लोगों से सलाह मशविरा किया कि भैंस के पेट से आखिरकार मंगलसूत्र कैसे निकाला जाए. एक रास्ता तो ये था कि उसके गोबर करने का इंतज़ार किया जाए लेकिन क्या पता भैंस कब गोबर करेगी और उसमें से मंगलसूत्र कब निकलेगा.

शादीशुदा बहन के पास इतना वक्त नहीं था इसलिए पशु चिकित्सक को बुलाया गया. उसने भैंस की सर्जरी की और सफलतापूर्वक मंगलसूत्र बाहर निकाल लिया. मंगलसूत्र पाकर बहन तो खुश हो गई, लेकिन बेचारी भैंस को बिना गलती अपना पेट चिरवाना पड़ा.

पशु चिकित्सक डॉ. नितीन खाडे ने बताया कि मंगलवार को एक किसान का फोन आया था कि हमारी भैंस ने मंगलसूत्र खा लिया है. ये सुनते ही मैं तुरंत वहां पहुंच गया और एक्स रे करने को कहा लेकिन वो तैयार नहीं हुआ. किसान ने कहा कि उन्हें अच्छी तरह मालूम है कि भैंस ने मंगलसूत्र खाया. इसके बाद मैंने आपरेशन का फैसला किया और सफलतापूर्वक मंगलसूत्र बाहर निकाल लिया. इस काम में मैंने कुछ और पशु चिकित्सकों की मदद भी ली. फिलहाल भैंस की तबीयत ठीक है.