न्यूयार्क : सेरेना और वीनस विलियम्स ने कल यहां यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट में अपने अपने मैच जीतकर करियर में 30वीं बार एक दूसरे से भिड़ने की नींव रखी। छह बार की चैंपियन सेरेना ने जर्मन की विश्व में 101वें नंबर की कारिना विथोफ्ट को आसानी से 6-2, 6-2 से हराया। उन्होंने 30 विनर्स और 13 ऐस लगाये।
 

यूएस ओपन में 2000 और 2001 की चैंपियन वीनस ने इटली की कैमिला जियोर्गी को 6-4, 7-5 से हराकर इस टूर्नामेंट में 17वीं बार तीसरे दौर में प्रवेश किया।
 

यह 1998 के आस्ट्रेलियाई ओपन के बाद पहला अवसर होगा जबकि ये दोनों बहने किसी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में इतनी जल्दी आमने सामने होंगी। संयोग से 1998 में वे पहली बार एक दूसरे से भिड़ी थी। यूएस ओपन में छठी बार वे एक दूसरे का सामना करेंगी।
 

सेरेना ने कहा, ‘‘शुक्रवार को मुकाबला अविश्वसनीय तौर पर मुश्किल होगा।’’
 

इससे पहले इन दोनों बहनों के बीच 2017 आस्ट्रेलियाई ओपन के फाइनल में मुकाबला हुआ था। वीनस ने कहा कि तब उनकी छोटी बहन फायदे की स्थिति में थी क्योंकि यह ‘दो के खिलाफ एक का मुकाबला’ था।सेरेना तब गर्भवती थी और वीनस ने इसी संदर्भ में यह बात कही।
 

मौजूदा चैंपियन और तीसरी वरीयता प्राप्त सलोनी स्टीफन्स ने भी उक्रेन की क्वालीफायर अनहेलिना कालिनिना को मैराथन मुकाबले में 4-6, 7-5, 6-2 से हराकर तीसरे दौर में प्रवेश किया। यह मैच दो घंटे 46 मिनट तक चला।
 

स्टीफन्स का अगला मुकाबला दो बार की आस्ट्रेलियाई ओपन चैंपियन विक्टोरिया अजारेंका से होगा जिन्होंने आस्ट्रेलिया की डारिया गार्विलोवा को 6-1, 6-2 से हराया।
 

पहले दौर में विश्व की नंबर एक खिलाड़ी सिमोना हालेप को हराने वाली एस्तोनिया की काइया कानेपी ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा तथा स्विट्जरलैंड की जिल टेइचमान को 6-4, 6-3 से हराकर तीसरे दौर में प्रवेश किया।
 

लेकिन विंबलडन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली नौवीं वरीयता प्राप्त जूलिया गार्जेस को रूस की इकटेरिना मकारोवा के हाथों 7-6, 6-3 से हार का सामना करना पड़ा।