छतरपुर : जिले के किशनगढ़ कस्बा में लोकायुक्त सागर की टीम ने 5 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए एक संकुल समन्वयक जनशिक्षक को उसके घर से रंगे हाथों पकड़ा है। जनशिक्षक ने मध्यानह भोजन चलाने वाले एक स्वसहायता समूह के संचालक से हर महीने के हिसाब से 500 रुपए की मांग की थी। इस कार्रवाई के बाद लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।  लोकायुक्त सागर के टीआई संतोष जामरा और टीआई बीएम द्विवेदी की अगुवाई वाली टीम ने किशनगढ़ पहुंची और जैसे ही फरियादी ने जनशिक्षक सुनील कुमार जैन के निवास पर जाकर पांच हजार रुपए दिए, वैसे ही लोकायुक्त टीम ने पहुंचकर उन्हें रंगे हाथ पकड़ लिया। बाद में उनके खिलाफ कार्रवाई की गई।

टीआइ जामरा ने बताया कि ग्राम कदवारा निवासी त्रिलोक सिंह संकुल क्षेत्र के प्राइमरी और मिडिल स्कूल में सियाराम स्वसहायता समूह के नाम से मध्यान्ह भोजन बनाने का काम करता है। कुछ दिनों पहले संकुल समन्वयक सुनील कुमार जैन ने स्कूल में पहुंचकर मध्यान्ह भोजन का निरीक्षण किया था। उस दौरान उन्होंने आवेदक त्रिलोक सिंह से स्वसहायता समूह का ठेका निरस्त नहीं करने के एवज में हर माह 500 रुपए फि क्स देने की मांग की थी। इस पर समूह संचालक परेशान हो गया था। वह रिश्वत देना नहीं चाहता था। इस कारण उनसे लोकायुक्त में शिकायत की थी। इस शिकायत का परीक्षण करने के बाद जनशिक्षक को टै्रप करने की योजना बनाई।