साउथम्पटन : इंगलैंड के 246 रनों के जवाब में भारतीय टीम ने 273 रन बनाकर आॅल आउट हो गई है। इस तरह टीम इंडिया के पास 27 रनों की मामूली लीड हो गई है। भारतीय पारी सिमटने के बाद इंगलैंड को खेलने के लिए चार ओवर मिले जिसमें इंगलैंड ने बिना कोई विकेट खोए छह रन बना लिए हैं और वह भारतीय बढ़त से 21 रन पीछे है। एलेस्टेयर कुक दो और कीटन जेनिंग्स चार रन बनाकर क्रीज पर हैं। भारतीय पारी का मुख्य आकर्षण चेतेश्वर पुजारा का शतक रहा। उन्होंने 132 रन बनाए और अंत तक आउट नहीं हुए। इससे पहले भारत ने पहले दिन के अपने स्कोर 19/0 से आगे खेलते हुए धीमी शुरुआत की थी।

सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल और शिखर धवन ने पहले विकेट के लिए 37 रन जोड़े। राहुल (19) एक बार फिर से ब्रॉड की गेंद पर पगबाधा हुए। इसके फौरन बाद शिखर धवन (23) भी ब्रॉड का शिकार बन गए। इसके बाद चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली ने मोर्चा संभालते हुए 92 रनों की साझेदारी की। कोहली ने 71 गेंदों में छह चौकों की मदद से 46 रन बनाए।

वहीं, नॉटिंघम टेस्ट में शानदार पारी खेलने वाले अजिंक्य रहाणे चौथे टेस्ट में कमाल नहीं कर पाए। वह 11 के स्कोर पर स्टोक्स की गेंद पर पगबाधा आऊट हुए। इसके बाद अपने डैब्यू गेंद की दूसरी ही गेंद पर छक्का मारकर मशहूर हुए रिषभ पंत की विकेट गिरी। पंत ने कुल 29 गेंदें खेलीं लेकिन वह अपना खाता भी नहीं खोल पाए।

ऑल राऊंडर हार्दिक पांड्या भी महज चार रन पर मोईन की गेंद पर रूट को कैच थमा बैठे। इसके बाद मोईन ने अश्विन (1) और शमी (0) को लगातार दो गेंदों पर बोल्ड कर दिया। ईशांत शर्मा ने 14 रन बनाकर टीम इंडिया को 200 रन से पार पहुंचाया। वहीं, एक छोर संभाले पुजारा ने जसप्रीत बुमराह के साथ अपना शानदार शतक पूरा किया।

इंग्लैंड ने पहली पारी में 246 रन बनाये थे। भारत ने सुबह बिना किसी नुकसान के 19 रन से आगे खेलना शुरू किया। शिखर धवन (23) और केएल राहुल (19) ने अंतिम क्षणों में मिलने वाले मूवमेंट के प्रति सतर्कता बरती।  जेम्स एंडरसन को खास मूवमेंट नहीं मिला जबकि स्टुअर्ट ब्राड ने बायें हाथ के बल्लेबाज धवन को अपनी लेंथ से परेशान किया।  ब्राड ने दिन के चौथे ओवर में राहुल को पगबाधा आउट किया। बल्लेबाज ने हालांकि डीआरएस का सहारा लिया लेकिन फैसला इंग्लैंड के पक्ष में गया। धवन के खिलाफ ब्राड की अपील ठुकरा दी गयी और यहां तक डीआरएस का फायदा भी बल्लेबाज को मिला। ब्राड को हालांकि जल्द ही दूसरा विकेट मिल गया। उन्होंने आफ स्टंप से बाहर जाती गेंदों पर धवन को परेशान किया और भारत का स्कोर 50 रन के पार पहुंचते ही उन्होंने विकेटकीपर को कैच दे दिया। इसके बाद पुजारा और कोहली ने बखूबी जिम्मेदारी संभाली।

इससे पहले भारत ने इंगलैंड के टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के फैसले का पूरा फायदा उठाते हुए लंच तक उसके चार विकेट 57 रन तक निपटा दिए थे। भारत ने लंच और चायकाल के बीच दो विकेट और निकाले। हालांकि तीसरे सत्र में इंगलैंड के निचले क्रम ने सराहनीय संघर्ष किया और टीम को कुछ हद तक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया वरना इंगलैंड ने एक समय अपने छह विकेट मात्र 86 रन पर गंवा दिए थे। सैम करेन ने 136 गेंदों में आठ चौकों और एक छक्के की मदद से 78 रन बनाए जबकि मोईन अली ने 85 गेंदों में दो चौकों और दो छक्कों के सहारे 40 रन बनाए। स्टुअर्ट ब्रॉड ने 17 रन का योगदान दिया।

जसप्रीत बुमराह ने 46 रन पर तीन विकेट, मोहम्मद शमी ने 51 रन पर दो विकेट, इशांत शर्मा ने 16 ओवर में मात्र 26 रन देकर दो विकेट, ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 40 रन पर दो विकेट और हार्दिक पांड्या ने 51 रन पर एक विकेट लिया। बुमराह ने तीसरे ही ओवर में कीटन जेनिंग्स को पगबाधा कर दिया। जेनिंग्स  का खाता भी नहीं खुला। इशांत ने कप्तान जो रूट को पगबाधा कर भारत को दूसरी सफलता दिलाई। रूट ने चार रन बनाए। बुमराह ने जॉनी बेयरस्टो(6) को विकेट के पीछे रिषभ पंत के हाथों कैच आउट करा कर चलता किया। पांड्या ने ओपनर एलेस्टेयर कुक (17) को कप्तान विराट कोहली के हाथों कैच कराकर इंग्लैंड को 36 के स्कोर तक चौथा झटका दे दिया। शमी ने जोस बटलर (21) और बेन स्टोक्स (23) के विकेट लेकर इंगलैंड का स्कोर छह विकेट पर 86 रन कर दिया। अली और करेन ने सातवें विकेट के लिए चायकाल तक 53 रन की अविजित साझेदारी कर मेजबान टीम को कुछ हद तक संभाल लिया। दोनों ने चायकाल के बाद स्कोर को 167 तक पहुंचाया। दोनों ने 81 रन की साझेदारी की। मोईन को ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने आउट किया। आदिल राशिद को इशांत ने पगबाधा किया। ब्रॉड को बुमराह और करेन को अश्विन ने बोल्ड कर इंगलैंड की पारी समेट दी।

टीमें :
भारत: विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, हार्दिक पंड्या, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह.

इंग्लैंड: जो रूट (कप्तान), मोइन अली, जेम्स एंडरसन, जॉनी बेयरस्टाॅ, स्टुअर्ट ब्रॉड, जोस बटलर (विकेटकीपर), एलिस्टेयर कुक, सैम कुरेन, बेन स्टोक्स, केटन जेनिंग्स, आदिल राशिद.