नई दिल्लीः इंग्लैंड के खिलाफ साउथम्पटन में जारी चौथे टेस्ट की पहली पारी में भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने नाबाद शतकीय पारी खेली। भारत की दीवार कहलाने वाले पुजारा ने 257 गेंदों में 16 चौकों की बदौलत 132 रन बनाए। इस मैच की पहली पारी में भारत के लगातार गिरते विकेट के बीच पुजारा ने बेहतरीन पारी खेली और अपनी दावेदारी पेश की।

मौजूदा समय में चल रहे इंग्लैंड दौरे पर पुजारा का यह पहला और अपने टेस्ट करियर का 15वां शतक है। जारा ने पहली पारी में कप्तान विराट को साथ 92 रन की साझेदारी करते हुए अहम शतक लगाया और टीम की डूबती नैया को पार लगाया। पहली पारी में विराट के आउट होने के बाद जिस तरह से भारतीय बल्लेबाजों का विकेट गिरने लगा उससे ये लगने लगा था कि भारत शायद ही इंग्लैंड द्वारा पहली पारी में बनाए गए 246 रन के स्कोर तक पहुंच पाए, लेकिन पुजारा ने टीम का पूरा साथ दिया।

पुजारा का दूसरा इंग्लैंड दौरा है। 2014 में हुए दौरे पर वह शतक बनाने में नाकामयाब रहे, लेकिन इस बार वब इंग्लैंड की धरती पर अपना पहला टेस्ट शतक लगाने में कामयाब रहे। वहीं इंग्लैंड के खिलाफ पुजारा ने इस टेस्ट शतक से पहले चार शतक लगाए हैं लेकिन वो भारतीय सरजमीं पर। पुजारा ने इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट शतक वर्ष 2012 में लगाया था।

इंग्लैंड ने पहली पारी में 246 रन बनाए, वहीं भारतीय टीम ने पहली पारी में 273 रन बनाकर 27 रनों की मामूली लीड बनाई। मोईन अली ने भारत की पहली में सर्वाधिक 5 विकेट लिए। इसके अलावा स्टुअर्ट ब्राॅड ने 3, सैम कुरेन और बेन स्टोक्स ने एक-एक विकेट लिया। सबसे अहम गेंदबाज जेम्स एंडरसन के एक भी विकेट नहीं मिला।