गुरूग्राम: हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा व कांग्रेसाध्यक्ष राहुल गांधी के  जीजा रॉबर्ट वाड्रा पर मामला दर्ज होने के बाद जहां सियासती लोगों में जंग छिड़ी हुई। एक ओर भाजपा इसे सबूतों के आधार पर दर्ज किया गया मामला बता रही है, वहीं कांग्रेसी दिग्गज इस मामले को झूठा और षडयंत्र के तहत दर्ज कराया गया बता रही है। वहीं भूपिंदर सिंह हुड्डा व रॉबर्ट वाड्रा ने इस मामले में अपनी सफाई पेश करते हुए बयान दिया है।

हुड्डा ने कहा कि भाजपा सरकार को उनके चार साल के कार्यकाल में कुछ नहीं मिला, इसलिए लोगों को ध्यान भटकाने के लिए एफआईआर दर्ज करवा दी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार के दौरान कोई गलत काम नहीं किया गया। इस एफआईआर को राजनीति के तहत दर्ज करवाया गया है। उन्होंने कहा कि ढींगरा कमेटी की भी इसी मुद्दे पर रिपोर्ट आई थी, जिसमें हम पाक साफ साबित हुए हैं।

उन्होंने कहा कि हम जहां जाते हैं वहां लाखों लोग आते हैं, जबकि उनके साथ कोई नहीं है इसलिए हताश होकर ऐसा किया है। उन्होंने कहा कि मुझे कानून पर पूरा विश्वास है। वहीं रॉबर्ट वाड्रा का कहना है कि चुनाव नजदीक हैं। तेल के दाम बढ़े हुए हैं तो मेरे बरसों पुराने मुद्दे को उठाकर आम जनता के मुख्य मुद्दों से ध्यान भटकाया जा रहा है। इसमें नया क्या है?