एट्रोसिटी एक्ट की मुखालिफत स्वत:स्फूर्त हो रही है। कांग्रेस हो के भाजपा लोग सभी को घेर रहे हैं। इस विरोध को देखते हुए सूबे के तीन मंत्रियों की सुरक्षा बढ़ाने वाली खबर यहां भरपूर लीड बनी। ये मामला इन चुनावों में रंग दिखाने वाला है। यहीं सीएम के रथ पे पत्थर फिंकवाने वाली खबर भी उम्दा सेट हो गई। डार्कनेट पे भोपाल के 1272 डेबिट के्रडिट कार्ड का डाटा मौजूद होने वाली खबर मुदस्सिर खान की जानदार खबर। सुभाष एक्सिलेंस स्कूल की लाइब्रेरी के लिए किताबें जुटाने वाली खबर पढ़ी जाएगी। नेशनल प्राइज मिलने पर भी 300 से अधिक शिक्षकों को प्रमोशन नहीं मिला। प्रवीण मालवीय की खबर ध्यान खींचती है। महामुकाबला पेज भोत जानदार चल रहा है। इसमें अतीत का झरोखा का जवाब नहीं।