नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान विरोध का सामना करना पड़ा है. रविवार की रात सीधी जिले के चुरहट में जहां उनके रथ पर पत्थरबाजी हुईं वहीं चप्पल भी फेंकने की घटना सामने आई. रात एक बजे के करीब मुख्यमंत्री पर चप्पल फेंकने के मामले में कुल तीन लोग गिरफ्तार हुए हैं. जिसमें दो लोग आरक्षण विरोधी संगठन और एक व्यक्ति करणी सेना का बताया जाता है. सभी के खिलाफ आइपीसी की धारा 353,186,294, 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है. उधर मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव के मामले में भी  पुलिस ने नौ लोगों को गिरफ्तार किया है.पथराव के समय मुख्यमंत्री रथ में मौजूद थे.हालांकि उन्हें कोई चोट नहीं आई. पुलिस ने कहा कि वह पूरी तरह सुरक्षित रहे. बीजेपी ने पत्थरबाजी का ठीकरा कांग्रेस पर फोड़ा है. पुलिस घटना की जांच कर रही है.

चुरहट कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का गढ़ है. मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा जब रात में करीब साढ़े नौ बजे चुरहट पहुंची  तो अचानक कुछ लोगों ने नारेबाज़ी शुरू कर दी, गुस्साए लोगों ने उन्हें काले झंडे दिखाने की कोशिश की और कुछ आक्रोशित लोगों ने बस पर पत्थरबाजी कर दी, एक पत्थर बस के शीशे पर लगा तो शीशा टूट गया. बाद में चुरहट में सभा को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा पत्थर फेंकने वालों में अगर हिम्मत हैं तो सामने आकर मुकाबले करें, छुपकर इस तरह की हरकतें ठीक नहीं हैं.

उन्होंने कांग्रेस नेता अजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि पत्थर फेंकने वाले राहुल सिंह यानी अजय भैया अगर ताकत है तो सामने मुकाबला करो.मैं तो शरीर से बहुत कमजोर हूं. लेकिन तुम्हारी हरकतों से रत्तीभर डरने वाला नहीं हूं.मेरे साथ प्रदेश की जनता खड़ी है.
       
उन्होंने कहा  राहुल तुम राजनीत को कहां ले जाओगे. तुम्हारे पिताजी अर्जुन सिंह जी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं. केंद्रीय मंत्री रहे हैं. पंजाब के गवर्नर भी रहे हैं .उन्होंने कभी इस तरह के संस्कार नहीं डाले. वे तो भाजपा के एक कार्यक्रम में हम लोगों ने बुलाया था तो मुख्यमंत्री रहते हुए आए थे . उन्होंने मतभेद को कभी मनभेद नहीं बनाया .अरे भैया यह तूने क्या कर दिया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो मां का नहीं हुआ, वह प्रदेश का क्या होगा।भैया इतने कमजोर हो गए हो तुम शिवराज की एक यात्रा से डर गए ।उन्होंने कहा तुम भी मेरे गांव गए थे, तो मैंने फूल मालाओं से स्वागत कराया था. मैंने कहा था अपना मेहमान आया है। उसका स्वागत करना है.प्रदेश की राजनीति को कहां ले जाओगे?
     
वहीं अजय सिंह ने साफ कहा कि इस हमले में कांग्रेस का कोई कार्यकर्ता शामिल नहीं था. उन्होंने कहा मुझे लगता है कि ये चुरहट के लोगों और कांग्रेस को बदनाम करने की सोची समझी साज़िश है.उधर, इस घटना को लेकर बीजेपी नेता लोकेंद्र पाराशर ने ट्वीट किया तो मध्य प्रदेश बीजेपी इकाई ने रिट्वीट किया.

चुरहट में जन #JanAshirwadYatra को
मिले अपार जनसमर्थन से
जिनकी चूलें हिल गईं,
वे कायरों की तरह पथराव पर उतर आए।
मुख्यमंत्री @ChouhanShivraj जी सकुशल हैं।
पूरे प्रदेश की जनता और ईश्वर उनके साथ है। कायराना हरकत करने वालों
जनता तुम्हारी कायरता का करारा जवाब देगी @MPRakeshSingh pic.twitter.com/C5blim7dMm

— Lokendra Parashar (@LokendraParasar) September 2, 2018

इस दौरान मुख्यमंत्री ने एक कांग्रेसी नेता पर इशारों ही इशारों में हमला बोला. कहा कि तुम्हारे पिता जी मध्य प्रदेश के सीएम रहे, केंद्रीय मंत्री भी रहे, बीजेपी के कार्यक्रम में भी न्योता दिए जाने पर वह आए थे. मगर आप राजनीति को कहां ले जाओगे. माना जा रहा कि मुख्यमंत्री का यह इशारा कांग्रेस नेता अजय सिंह की ओर था. बता दें कि राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के काफिले पर भी बीते दिनों पथराव हुआ था. यह घटना गौरव यात्रा के दौरान पीपड़ में हुई थी. जिसके बाद मुख्यमंत्री के सुरक्षा अफसरों ने हेलीकॉप्टर मंगाया, तब जाकर राजे जयपुर लौंटीं.उस दौरान भी पत्थरबाजी में बीजेपी ने कांग्रेस का हाथ बताया था.