नई दिल्ली: पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने लगातार बढ़ रही पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर ट्वीट किया है. यशवंत सिन्हा ने विपक्ष से पूछा है कि वह पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ सड़कों पर क्यों नहीं है. बता दें कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आज 11वें दिन भी रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

यशवंत सिन्हा ने कहा है, "पेट्रोल, डीजल और गैस की कीमतें बढ़ रही हैं और रोजाना हर दिन कीमतें नई ऊंचाईयों पर पहुंच रही हैं. विपक्षी दल सड़कों पर क्यों नहीं उतर रहे हैं? वे किस बात का इंतजार कर रहे हैं?" बता दें कि पूर्ववर्ती एनडीए सरकार में मंत्री रहे यशवंत सिन्हा मौजूदा नरेंद्र मोदी सरकार के कटु आलोचक हैं.

Petrol, diesel and gas prices are rising and are hitting all time highs daily. Why are opposition parties not hitting the streets? What are they waiting for?

— Yashwant Sinha (@YashwantSinha) September 4, 2018


आज लगातार 11वें दिन कीमतों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुई. नई दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में 16 और डीजल की कीमतों में 19 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई. इसी के साथ शहर में पेट्रोल की कीमत 79 रुपये 31 पैसे और डीजल की कीमत 71 रुपये 34 पैसे प्रति लीटर की दर पर पहुंच गई है. वहीं कोलकाता, चेन्नई और मुंबई में भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी देखी गई. आर्थिक राजधानी मुंबई में एक लीटर पेट्रोल 86 रुपये 72 पैसे प्रति लीटर और डीजल 75 रुपये 74 पैसे प्रति लीटर की दर से बिक रहा है.

कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल बढ़ती तेल की कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर हैं और इसे जीएसटी के दायरे में लाने की मांग कर रही है. पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि केंद्र और राज्यों को एक साथ मिलकर पेट्रोल और डीजल को जल्द वस्तु औप सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में लाने का काम करना चाहिए. पूर्व वित्तमंत्री का बयान पेट्रोल और डीजल की कीमतों में रोज ऊंचाई का नया रिकॉर्ड बनने के बाद आया है.