मुंबई : साल 2007 के टी-20 क्रिकेट विश्व कप में भारत की विजय में अहम भूमिका निभाने वाले तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने मंगलवार को खेल से संन्यास की घोषणा की. बाएं हाथ के 32 वर्षीय तेज गेंदबाज सिंह ने ट्विटर के जरिए इसका ऐलान किया. उन्होंने ट्वीट कर बताया कि 13 साल पहले चार सितंबर, 2005 को पहली बार उन्होंने भारतीय टीम की जर्सी पहनी थी.

आरपी सिंह का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर लगभग छह साल रहा. उन्होंने क्रिकेट के सभी तीन प्रारूप में 82 मैच खेले और 100 से अधिक विकेट चटकाए.

सिंह ने ट्विटर पर एक भावुक विदाई पत्र पोस्ट कर अपने संन्‍यास लेने का ऐलान किया, जिसमें उन्‍होंने बेहद भावुक तरीके से लिखा, '13 वर्ष पहले आज ही के दिन यानि 4 सितंबर 2005 को मैंने भारतीय जर्सी पहली बार पहनी थी.' इसके साथ ही उन्‍होंने अपने संदेश में अपनी फैमिली, बीसीसीआई और राज्य क्रिकेट संघ को भी धन्‍यवाद कहा. आरपी ने अपने पत्र में लिखा, 'मेरी आत्मा और दिल आज भी उस युवा लड़के के साथ है, जिसने पाकिस्तान के फैसलाबाद में करियर की शुरुआत की थी. जो लेदर बॉल को अपने हाथ में रखते हुए सिर्फ खेलना चाहता था. हालांकि शरीर अहसास दिला रहा है कि अब मेरी उम्र हो चुकी है और युवा खिलाड़ियों के लिए जगह खाली करने का समय आ गया है.'

🙏 pic.twitter.com/VluMI8unxM

— R P Singh (@rpsingh) September 4, 2018

टेस्ट क्रिकेट में उन्‍होंने 14 मैच खेले, जिसमें उन्‍होंने 40 विकेट भी चटकाए. उनका शानदार प्रदर्शन रहा 59 रन देकर 5 विकेट लेना (एक पारी में). वहीं, वनडे क्रिकेट में उन्‍होंने 58 मैच खेले और 69 विकेट लिए. वनडे फॉर्मेट में उनका बेस्ट प्रदर्शन 35 रन देकर 4 विकेट लेना. इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय टी-20 प्रारूप में उन्‍होंने 10 मैच खेले, जिनमें उन्‍होंने 15 विकेट लिए. इस फॉर्मेट में उन्‍होंने बेस्‍ट प्रदर्शन में 13 रन देकर 4 विकेट लिए.