नई दिल्ली: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों और डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार गिरावट को लेकर कांग्रेस मोदी सरकार के खिलाफ हमलावर है. पार्टी ने आज बढ़ती कीमतों को 'फ्यूल लूट' का नाम देते हुए कहा कि 10 तारीख को इसके विरोध में भारत बंद किया जाएगा. कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने कहा कि मोदी सरकार से कोई वर्ग खुश नहीं है. सरकार राहुल गांधी के सवालों का जवाब नहीं दे पा रही है.

उन्होंने कहा, ''मंहगाई, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों ने कमर तोड़ दी है. लोगों में जबरदस्त आक्रोश है. हम साथ आने के लिए विपक्षी पार्टियों से बात कर रहे हैं.''

वहीं कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पेट्रोल, डीजल के अलावा LPG गैस की कीमत दोगुनी हो चुकी है. दूध से लेकर प्लेटफॉर्म टिकट तक के दाम कई गुना बढ़ चुके हैं. कांग्रेस अध्यक्ष मांग कर रहे हैं कि पेट्रोल-डीजल को GST में लाया जाए. इससे 10-15 रुपए तक कमी आएगी. लेकिन सरकार मानने को तैयार नहीं है.

उन्होंने कहा, ''11 लाख करोड़ की फ्यूल लूट के खिलाफ कांगेस ने जन आंदोलन चलाने का फैसला किया है.'' उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियों से बात हुई है, वो भी भारत बंद में सहयोग और समर्थन करने को तैयार हैं. सुरजेवाला ने बताया कि 10 सितंबर को सुबह 9 बजे से शाम के 3 बजे तक भारत बंद रहेगा.

आपको बता दें कि एक दिन के ठहराव के बाद आज ईंधन कीमतों में फिर वृद्धि हुई और पेट्रोल 79.51 रुपये प्रति लीटर और डीजल 71.55 रुपये प्रति लीटर की ऊंची दर पर बिकी, जिसने पिछले सभी रिकॉर्डस को तोड़ दिए.

तेल की कीमत महाराष्ट्र में सबसे अधिक है. राज्य के सबसे बड़े सार्वजनिक त्योहार गणेशोत्सव से कुछ हफ्ते पहले, महाराष्ट्र के परभणी में पेट्रोल की कीमत 88.77 रुपये पहुंच चुकी है, जो शायद देश में सबसे ज्यादा है. परभणी जिला पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय देशमुख ने कहा कि यहां तक कि डीजल की कीमत भी तेजी से बढ़ रही है और गुरुवार को 76.59 रुपये प्रति लीटर पर बिकी, जिससे आम लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.