अग्नाशय संबंधी बीमारी के उपचार के लिए अमेरिका गए गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर गुरुवार को पणजी लौट आए. पर्रिकर की अनुपस्थिति में विपक्षी कांग्रेस ने राज्यपाल से गोवा में राष्ट्रपति शाषण लगाने की मांग की थी. मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि पर्रिकर शाम करीब साढ़े पांच बजे मुंबई से गोवा पहुंचे. पर्रिकर दोपहर में अमेरिका से मुंबई पहुंचे थे.

मुख्यमंत्री पर्रिकर की वापसी पर गोवा कांग्रेस के अध्यक्ष गिरीश चोडांकर ने आरोप लगाया है कि मौजूदा समय में राज्य कोई सरकार जैसी कोई चीज नहीं है और वे उम्मीद करते हैं कि राज्यपाल मामले में हस्तक्षेप करें. उन्होंने कहा कि दो अहम मंत्रालय के मंत्री भी अनुपस्थित हैं तो वहीं मुख्यमंत्री की अनुपस्थिति लगातार बनी हुई है.

चोडांकर ने कहा कि वे मुख्यमंत्री के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं. लेकिन वे राज्यपाल से बीजेपी नीत सरकार को मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य पर बयान जारी करने की अपील करेंगे, ताकि उनके स्वास्थ्य को लेकर स्थिति साफ हो.

बता दें कि साल की शुरुआत में करीब तीन महीने तक अमेरिका में पर्रिकर ने अग्नाशय संबंधी बीमारी का उपचार कराया था. अमेरिका में तीन महीने लंबे चले उपचार के दौरान पर्रिकर ने शासन के संचालन के लिये सुदीन धावलिककर, फ्रांसिस डीसूजा और विजय सरदेसाई की एक मंत्रिमंडल सलाहकार समिति का गठन किया था.

लेकिन उनकी दूसरी और तीसरी अमेरिका यात्रा के दौरान ऐसे किसी समिति का गठन नहीं किया गया, जिसे लेकर विपक्षी कांग्रेस ने मुख्यमंत्री पर्रिकर के साथ ऊर्जा मंत्री पांडुरंग मडकाईकर और शहरी विकास मंत्री फ्रांसिस डिसूजा के बीमारी के चलते उनुपस्थिति का मुद्दा बनाकर आरोप लगाया था कि गोवा में संवैधानिक संकट खड़ा हो गया है. लिहाजा राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाए.

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने इस वर्ष मार्च से जून के बीच अग्नाशय संबंधी बीमारी के लिए अमेरिका में इलाज कराया था. वह 10 अगस्त को फिर से अमेरिका गए थे और 22 अगस्त को वापस आये थे. लेकिन अगले ही दिन मुंबई के निजी अस्पताल में भर्ती हो गए. लेकिन 29 अगस्त को इलाज के लिए वे फिर अमेरिका चले गए.