लखनऊ : 6 सितम्बर को सवर्ण संगठनों द्वारा एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में बुलाए गए भारत बंद पर प्रतिक्रिया देते हुए शुक्रवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान मायावती ने बीजेपी सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि SC/ST एक्ट के साथ बीजेपी ने खिलवाड़ किया है। बीजेपी चुनाव के समय जातिवाद फैलाना चाहती है।

उन्होंने कहा कि भारत बंद बहाली का बीजेपी विरोध करा रही है। मायावती ने कहा कि समस्त भारत सरकार की नीतियों से परेशान है। बीजेपी का जनाधार खिसक रहा है। जिसकी वजह से वह जातिवाद स्टंट कर रही है। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार में सभी मामलो को गंभीरता से लिया जाता था। मैंने सवर्णों को आर्थिक तौर पर आरक्षण देने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार में किसी के साथ अन्याय नहीं हुआ और न ही एससी-एसटी एक्ट का दुरूपयोग हुआ।

मायावती ने कहा कि उनकी पार्टी सिर्फ दलितों की पार्टी नहीं है। उनकी पार्टी दलित, पिछड़ा, सवर्ण और अल्पसंख्यकों की पार्टी है। उन्होंने कहा उनकी पार्टी सर्वजन हिताय और सर्वजन सुखाय की हितैषी है।मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों की वजह से आम जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। बिना किसी तैयारी के नोटबंदी और जीएसटी लागू कर केंद्र सरकार ने लोगों को बर्बाद कर दिया है।