लंदन : इंग्लैंड दौरे की टेस्ट सीरीज के आखिरी टेस्ट के दूसरे दिन का खेल शुरू होने वाला है. टीम इंडिया पहले दिन के तीसरे सत्र में अपनी वापसी को जाया नहीं जाने देना चाहेगी. एक समय इंग्लैंड का स्कोर केवल एक विकेट के नुकसान पर 133 रन था जो कि अब 7 विकेट के नुकसान पर 198 हो गया. क्रीज पर अभी जोस बटलर और आदिल राशिद मौजूद हैं.

पहले दिन टीम इंडिया के गेंदबाजों को धैर्य का बढ़िया फल मिला. टॉस जीतकर इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने पहले दिन अपने विकेट बचाने पर ज्यादा ध्यान दिया. इसमें इंग्लैंड कामयाब भी रहा जब तीसरे सत्र तक इंग्लैंड ने अपना स्कोर एक समय तक एक ही विकेट के नुकसान पर 133 रन हो गया. इसके बाद एक के बाद एक इंग्लैंड के तीन विकेट गिर गए और फिर नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे.

इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा रन एलिस्टर कुक ने (71) बनाए. उनके बाद मोईन अली के 50 रन रहे. इंग्लैंड के तीन खिलाड़ी शून्य पर आउट हुए. इनमें कप्तान जो रूट, जॉनी बेयरस्टॉ औक सैम कुरैन शामिल थे. भारत के लिए  ईशांत शर्मा ने तीन,  रवींद्र जडेजा ने दो और जसप्रीत बुमराह ने दो विकेट लिए.  इंग्लैंड के लिए  केटन जेनिंग्स ने 23, बेन स्टोक्स ने 11, जोस बटलर ने 11 और आदिल राशिद ने 4 रन बनाए.

On a pitch that offered little help for the bowlers, the Indian attack did well to dry up the runs. @imjadeja explains the bowlers' approach on the first day of the final #ENGvIND Test 👇https://t.co/7kVIOrxeNp pic.twitter.com/GSrpeYTaHT

— ICC (@ICC) September 8, 2018

सीरीज में चौथे टेस्ट में ही 1-3 से सीरीज गंवा चुकी टीम इंडिया ओवल में हो रहे टेस्ट में जीत के साथ सम्मानजनक विदाई के इरादे से उतरी है. पिछली बार साल 2014 में टीम इंडिया इंग्लैंड से ओवल में एक पारी ओर 244 रनों से मैच हारी थी, वहीं 2011 में भी इसे पारी से हार का सामना करना पड़ा था. तब इंग्लैंड  एक पारी और 8 रन से मैच जीती थी.  इसके बावजूद कहा जा रहा है कि टीम इंडिया के बल्लेबाजों  को ओवल का मैदान रास आता है.