लखनऊ: सपा प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए गोंडा आए हुए थे. यहां उन्होंने मीडिया से विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की. संशोधित एससी/एसटी एक्ट को लेकर सपा प्रमुख ने कहा कि मैं इतना कहना चाहता हूं कि किसी के साथ अन्याय नहीं होना चाहिए. उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि यह पार्टी किसी को चैन से नहीं रहने देना चाहती है. अचानक से रातों रात नोटबंदी का फैसला लिया गया और देश का हर शख्स उससे परेशान हो गया. जनता चैन से रहे, यह बीजेपी को पसंद नहीं है.

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी समय-समय पर एक्सपेरिमेंट करते रहती है. पहले नोटबंदी का एक्सपेरिमेंट किया और देश के हर शख्स को परेशान किया. फिर सोचा व्यापारियों को कितना परेशान किया जा सकता है तो GST लागू कर दिया. GST की वजह से व्यापारी अभी भी परेशान हो रहे हैं. फिर यूपी में विधानसभा चुनाव के दौरान समाज को तोड़ने का एक्सपेरिमेंट किया और श्मसान और कब्रिस्तान का मुद्दा उठाया. कुल मिलाकर, बीजेपी समय समय पर लोगों के साथ मजाक करते रहती है.

इसलिए, उन्होंने देश की जनता से अपील की कि वे बीजेपी की रणनीति और चाल में न फंसे. उन्होंने कहा कि जो कुछ हो रहा है वह बीजेपी की बहुत बड़ी चाल है. आपलोग इस चाल में बिल्कुल ना फंसे. कांग्रेस द्वारा 10 सितंबर को भारत बंद आह्वान पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि मैं किसी पार्टी का नहीं, बल्कि मुद्दों पर समर्थन करता हूं. महंगाई चरम पर है. पेट्रोल और डीजल के भाव आसमान छू रहे हैं. बीजेपी इस पर चर्चा नहीं करना चाहती है. इस बीच जब उनसे चाचा शिवपाल यादव के समाजवादी सेकुलर मोर्चा से जुड़ा सवाल पूछा गया तो वे कन्नी काट गए.