नई दिल्लीः इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज को गवा चुकी भारतीय टीम द ओवल के मैदान पर जारी आखिरी मैच को जीतने के लिए संघर्ष कर रही है। इस मैच की पहली पारी में इंग्लैंड ने जहां जोस बटलर (89) शानदार पारी की बदौलत 332 रनों का स्कोर खड़ा कर दिया, वहीं दूसरी और भारतीय बल्लेबाजी क्रम एक बार फिर फेल होता नजर आया।

बता दें कि इस सीरीज में भारतीय ओपनर्स का रिकाॅर्ड बेहद ही खराब रहा। इस सीरीज में खेली गई 18 पारियों के दौरान कोई भी भारतीय ओपनर अर्द्धशतक नहीं लगा सका। ऐसा 66 साल पहले हुआ था जब कोई भी भारतीय ओपनर एक श्रृखंला में अर्धशतक नहीं लगा सका। 1952-53 में घरेलू जमीन पर भारतीय ओपनर्स ने 16 पारियों में एक भी हाफ सेंचुरी नहीं ठोकी।

दूसरे दिन का खेल खत्‍म होने तक पहली पारी में भारत ने 51 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 174 रन बना लिए हैं। टीम इंडिया अभी इंग्लैंड द्वारा पहली पारी में बनाए गए 332 के स्कोर से 158 रन पीछे है, जबकि उसके चार विकेट बाकी हैं। डेब्‍यू कर रहे हनुमा विहारी (25) और रवींद्र जडेजा (8) नाबाद लौटे। भारत ने दिन के आखिरी सत्र में कुल 121 रन बनाए मगर 5 विकेट भी गंवा दिए।