लंदनः भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि अगर टेस्ट श्रृंखला से पहले आदर्श स्थितियां और अच्छी विरोधी टीम नहीं दी जाती है तो अभ्यास मैचों के कोई मायने नहीं है।

भारत दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड से लगातार दो श्रृंखलायें हार गया जिसके बाद सुनील गावस्कर समेत पूर्व खिलाडिय़ों ने अभ्यास मैचों की संख्या कम रहने पर सवाल उठाये हैं। एक इंटरव्यू में कोहली ने कहा, ‘‘लोग अभ्यास मैचों की बात करते हैं लेकिन अहम सवाल यह है कि ये मैच कहां हो रहे हैं और विरोधी टीम का गेंदबाजी आक्रमण कैसा है।’’      

उन्होंने कहा, ‘‘यदि टेस्ट श्रृंखला से पहले जरूरी तैयारी नहीं मिल पाती है तो इन मैचों के कोई मायने नहीं है। अच्छी विरोधी टीम सामने होने पर ही अभ्यास मैच उपयोगी होते हैं।’’