नई दिल्लीः कांग्रेस ने 10 सितंबर यानी सोमवार को भारत बंद का एलान किया है. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर बीते गुरुवार को कांग्रेस ने इस बंद का आह्वान किया था और इसे 'फ्यूल लूट' का नाम देते हुए भारत बंद में विपक्षी पार्टियों का साथ मांगा था. कल ही इस भारत बंद के लिए राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने भी समर्थन देने का एलान किया था.

हालांकि आज बीजू जनता दल ने कहा है कि वो न तो इस भारत बंद का समर्थन करेगी और न ही विरोध करेगी. बीजेडी के प्रवक्ता सष्मित पात्रा ने कहा कि ये पहली बार नहीं है कि पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा इजाफा हुआ है. उनकी पार्टी हमेशा से पेट्रोल-डीजल के बढ़ती कीमतों के खिलाफ लड़ती रही है. पिछले 4 सालों में बीजेडी कई बार सड़कों पर उतरी है और ईंधन कीमतों के बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन कर चुकी है. बीजेडी ने हमेशा ओडिशा के लोगों के लिए उसने आवाज उठाई है. साढ़े चार सालों में देखा जाए तो केंद्र सरकार द्वारा डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में 350 फीसदी की बढ़त की जा चुकी है और पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 115 फीसदी तक बढ़ाई जा चुकी है

जहां तक विरोध का सवाल है तो पिछले 3 दिनों से ओडिशा के पेट्रोल पंप पर बीजू जनता दल का विरोध प्रदर्शन चल रहा है और हम आगे भी ऐसा जारी रख सकते हैं. कांग्रेस पार्टी पिछले 4 सालों से सो क्यों रही थी और उसे लोगों को हो रही दिक्कतों का पहले ध्यान क्यों नहीं आया? अब पार्टी क्यों जागी है और इसके पीछे कोई सच है या राजनीति इसका फैसला ओडिशा की जनता करेगी. ओडिशा की जनता जानती है कि केवल बीजेडी ही उनके हक के लिए हमेशा आवाज़ उठाती रही है और और उनके अधिकारों के लिए लड़ती रही है.

The Biju Janata Dal (BJD) has been fighting against the price rise of petrol and deisel in the country and it is not for the first time that the country has seen such hike in fuel price. We are neither supporting nor opposing the #BharatBandh: Sasmit Patra, BJD spokesperson pic.twitter.com/yDaKWWP7CP

— ANI (@ANI) September 9, 2018

संबित पात्रा ने कहा कि अब चूंकि बंद का एलान हो चुका है तो बीजेडी राज्य के बच्चों का ख्याल रखते हुए स्कूल बंद रखेगी जिससे राजनीतिक पार्टियों के बंद का असर उन पर ना पड़े. लिहाजा कल ओडिशा के सभी स्कूल बंद रहेंगे.

अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के भारत बंद को कई छोटी बड़ी पार्टियों का समर्थन मिल चुका है जिनमें आरजेडी, डीएमके, एनसीपी, एसपी, एमएनएस जैसी पार्टियां शामिल हैं.