उत्तर प्रदेश: भले ही सपा प्रमुख अखिलेश यादव प्रधानमंत्री बनने की चाहत नहीं रखते हों, लेकिन उनकी ही पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान ने कहा, 'मैं प्रधानमंत्री बनने की ख्वाहिश रखता हूं.' एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बाराबंकी पहुंची आजम खान ने मीडिया से बात करते हुए केंद्र की मोदी सरकार, प्रदेश की योगी सरकार और संघ प्रमुख मोहन भागवत पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है.

आजम खान ने कहा कि देश में बेरोजगारी बढ़ रही है. पीएम बनने से पहले नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि वे हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देंगे. लेकिन, रोजगार पैदा करने में यह सरकार पूरी तरह से विफल रही है. उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है, दूसरी तरफ महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है. सरकार महंगाई पर लगाम लगाने में पूरी तरह से विफल रही है.

कालेधन को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए रामपुर से सपा विधायक ने कहा कि पिछले चार सालों में बहुत मात्रा में कालाधन देश से बाहर गया है. सरकार सबकुछ देखती रही, लेकिन कुछ नहीं कर पाई.

आजम खान ने संघ प्रमुख मोहन भागवत को लेकर कहा कि वे लोगों को भटकाए और भड़काएं नहीं. उन्होंने मोहन भागवत से अपील की कि वे गंगा सफाई, बीफ एक्सपोर्ट, महंगाई, गोरखपुर में मर रहे बच्चों के बारे में कुछ बोलें. खान ने कहा कि संवेदनशील मुद्दों पर वे चुप रहते हैं. वे वैसी बातें क्यों नहीं करते हैं जो लोगों को समझ में आए.

दरअसल, मोहन भागवत ने विश्व हिंदू सम्मलेन में कहा था कि हिन्दू किसी का विरोध नहीं कर सकते, लेकिन कुछ लोग हिंदुओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं, इसके लिए हमलोगों को तैयार रहना होगा.

शिवपाल यादव के समाजवादी सेक्युलर मोर्च पर आजम खान ने कहा कि अगर किसी मुद्दे पर आपसी असहमति थी तो बैठकर बातचीत की जा सकती थी. जिस पार्टी को आपने पूरी जिंदगी दी, उस पार्टी के कद्दावर नेता रहे और महत्वपूर्ण पदों पर आसीन रहे, उसे नहीं छोड़ना चाहिए.

सीएम योगी के हालिया बयान को लेकर आजम खान ने कहा कि वे अनपढ़ हैं. बता दें, योगी आदित्यनाथ ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव को लेकर कहा कि वे औरंगजेब की तरह हैं. जो अपने पिता और चाचा का नहीं हो सका वह किसी और का क्या हो सकता है.