नई दिल्ली: पेट्रोल एवं डीजल की रोज बढ़ती कीमतों के विरोध में आज देशभर में भारत बंद का आयोजन किया और धरना-प्रदर्शन कर चक्का जाम किया गया। वहीं इसी बीच अर्थशास्त्री और भजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी ही सरकार को चेताया। उन्होंने कहा कि सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतें इतनी न बढ़ाएं कि जनता विरोध पर ही उतर आए।

भाजपा नेता ने कहा कि विपक्ष को प्रदर्शन करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वित्त मंत्रालय को यह बताएं कि माइक्रो इकॉनमिक्स पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि एक ऐसा रास्ता बनाएं जिससे पेट्रोल की कीमत 40 रुपए प्रति लीटर से ज्यादा ना हो सके।

स्वामी ने कहा कि कच्चे तेल की कीमत बढ़ने पर पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ना जायज है और यह माइक्रोइकोनॉमिक्स को भी बढ़ाती हैं वह माइक्रोइकोनॉमिक्स के पक्ष में हैं क्योंकि यह केवल दो लोगों से जुड़ता है लेकिन यहां पूरी अर्थव्यव्स्था प्रभावित हो रही है इसलिए पीएम को पेट्रोलियम मंत्री से बोलना चाहिए कि इस मामले को आर्थिक मामलों के मंत्रालय की तरह सोचें और पेट्रोल-डीजल की कीमतों को इतना न बढ़ाएं कि जनता विरोध करने पर उतर आएं।