नई दिल्ली: डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस ने सोमवार को ‘भारत बंद’ बुलाया था. दोनों पार्टियों ने पेट्रोलियम उत्पादों की बढ़ोतरी को लेकर एक दूसरे पर जमकर निशाना साधा. इसी बीच केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने एक अहम बयान दिया है जिसके मुताबिक जल्द ही देश में डीजल-पेट्रोल की कीमतों में गिरावट आ जाएगी. गडकरी ने ये बातें छत्तीसगढ़ दौरे पर दुर्ग में कहीं. गडकरी ने कहा, "पेट्रोलियम मंत्रालय देश में 5 इथेनॉल निर्माण प्लांट लगाने जा रहा है. इथेनॉल लकड़ी उत्पाद और कचरे से उत्पादित किया जाएगा. डीजल 50 रुपये और पेट्रोल 55 रुपये में उपलब्ध होगा."

इससे पहले, केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को दिल्ली में कहा था देश में इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन बढ़ाने तथा अगले पांच साल में कुल वाहनों में इनकी हिस्सेदारी 15 प्रतिशत करने के लिए योजना तैयार कर ली गई है. उन्होंने छूट की जरूरत नहीं होने की बातें करते हुए कहा, "मेरे मंत्रालय ने गैर-वित्तीय प्रोत्साहनों के जरिए इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए विस्तृत योजना तैयार की है." गडकरी ने कहा कि इन वाहनों की बढ़ती मांग से इनकी कीमतों में स्वत: कमी आएगी. सरकार भी इनके लिए अनुकूल आधारभूत संरचना तैयार करने के लिए प्रतिबद्ध है.

उधर, ईंधन कीमतों में लगातार बढ़ोतरी के बीच आंध्र प्रदेश ने सोमवार को पेट्रोल तथा डीजल पर कर में दो रुपये घटाने कटौती की घोषणा की. मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने राज्य विधानसभा में कर कटौती की घोषणा की. नायडू ने कहा, "केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाकर लोगों पर भारी बोझ डाल रही है. पेट्रोल व डीजल को ऐसे समय महंगा किया जा रहा है जबकि सरकार की विभिन्न अन्य शुल्कों तथा लाभांश से आमदनी बढ़ रही है."

राज्य सरकार फिलहाल पेट्रोल व डीजल पर 31 प्रतिशत मूल्य वर्धित कर के अलावा चार प्रतिशत का अतिरिक्त कर लगा रही है. इस अतिरिक्त चार रुपये के कर में दो रुपये की कटौती की गई है. इससे राज्य में मंगलवार को पेट्रोल का दाम घटकर 84.71 रुपये प्रति लीटर तथा डीजल का 77.98 रुपये प्रति लीटर पर आ जाएगा. विपक्ष के भारत बंद से एक दिन पहले राजस्थान ने रविवार को पेट्रोल और डीजल पर वैट घटाने की घोषणा की है. राजस्थान में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं.