नई दिल्ली : डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत में लगातार हो रही गिरावट पर कांग्रेस ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि वह इससे जुड़े सवालों पर ‘मौन’ हैं. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर सवाल पूछा, ‘‘रूपया- नया दिन, नयी गिरावट, वही सवाल- मोदी जी, रूपया एशिया की सबसे कमज़ोर करेंसी कयों बना? देश अपनी साख क्यों खो रहा है? वित्तीय घाटा क्यों बढ़ रहा है? विदेशी निवेशक भरोसा क्यों खो रहें हैं? गिरते रुपये से महंगाई और बढ़ेगी, इसका ज़िम्मेदर कौन है?’’

इन सवालों पर मौन हैं प्रधानमंत्री-कांग्रेस
उन्होंने दावा किया कि इन सवालों पर प्रधानमंत्री ‘‘मौन’’ हैं. दरअसल, अंतर बैंकिंग मुद्रा बाजार में बुधवार को अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया गिर कर 72.91 रुपये प्रति डॉलर के सर्वकालिक निम्न स्तर पर आ गया. कच्चे तेल के ऊंचे दाम और विदेशी पूंजी की निरंतर निकासी से रुपया शुरुआती कारोबार में 22 पैसे गिरा.

महाराष्ट्र को लगी करोड़ों रुपये की चपत
रुपये की गिरती कीमत से सभी हलकान हैं. अब इसका असर भी साफ-साफ दिखाई देने लगा है. सरकारी प्रोजेक्ट्स लागातार महंगे हो रहे हैं. डॉलर के मुकाबले पिछले चार महीने से रुपये की गिरती कीमतों की वजह से महाराष्ट्र सरकार को एक हेलीकॉप्टर खरीदने में 18 करोड़ से अधिक राशि का खर्चा आएगा. मंगलवार को जारी एक सरकारी प्रस्ताव (जीआर) में यह जानकारी दी गई. जीआर में बताया गया है कि महाराष्ट्र सरकार ने अमेरिका की सिकोरस्काई कंपनी से हेलीकॉप्टर खरीदने की राशि में संशोधन किया है क्योंकि रुपये के मुकाबले डॉलर की महंगी दर की वजह से पहले की तुलना में अब खरीद राशि बढ़ गई है. यह हेलीकॉप्टर वीआईपी की यात्रा के लिए खरीदा जाना है.