चुनावी बरस में भोपाल-इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट को पीआईबी की मंजूरी और भोपाल में मेट्रो का शिलान्यास की तैयारियों वाली खबर भोत जानदार रही। यहीं सीरियल किलर के हत्या के आंकड़े वाली खबर भी मौजूद है। खांबरा कहता है कि वो ड्रायवरों का कत्ल कर उनके कष्टों को दूर करता था। जुगाड़ की शताब्दी वाली खबर तो खां भोत ही कमाल की रही। रेलवे के मामले में अखबार नायाब काम कर रहा है। बाग फरहत अफजा गेट बिना परमिशन के तोड़ने वाली खबर पूरी जानकारी के साथ यहां है। रेलवे ट्रेक पे पैर फिसला, ट्रेन आते ही किशोरी लेट गई, शुक्र है जान बच गई। खबर यहां भरपूर रही। जेपी और हमीदिया में वायरल के भयंकर मरीज पहुंच रहे हैं। यहीं दिन में धूप और रात में गुलाबी ठंड वाली खबर जानदार रही। किसानों को बीस दिन में 1200 करोड़ बंटेंगे। चुनावी साल में लपक्के खजाने खाली हो रए हेंगे। दिग्विजय सिंह के पंगत में संगत कार्यक्रम में नेताओं ने उनके कान में खूब टेंडर खोले। भेतरीन खबर।