इस्लामाबाद: पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, बेटी मरियम और दामाद कैप्टन (रिटायर्ड) मोहम्मद सफदर की पैरोल को बुधवार को तीन दिन के लिए बढ़ा दिया गया. इससे पहले तीनों को 12 घंटे के लिए पैरोल पर रिहा किया गया था. सभी को बेगम कुलसुम नवाज के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए पैरोल दी गई है. शरीफ की बीमार पत्नी कुलसुम का लंदन के एक अस्पताल में मंगलवार को निधन हो गया था, जिसके कुछ घंटों के बाद रावलपिंडी के अदियाला जेल से तीनों को पैरोल पर रिहा कर दिया गया.

नवाज शरीफ के परिवार वालों ने तीनों को पांच दिन का पैरोल देने के लिए अर्जी दी थी. पंजाब प्रांत के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक, नवाज, मरियम और सफदर के पैरोल को तीन दिन बढ़ाने का फैसला किया गया है. प्रवक्ता ने बताया, ‘‘पैरोल का समय आज आधी रात से शुरू होगा और शनिवार रात में खत्म हो जाएगा. बेगम कुलसुम के अंतिम संस्कार में देरी होने की स्थिति में पैरोल के समय को आगे बढ़ाया जाएगा.’’

1990 के दशक में लंदन में लग्जरी फ्लैट खरीदने को लेकर इस साल की शुरूआत में जब एंटी करप्शन कोर्ट ने शरीफ को 10 साल और उनके राजनीतिक उत्तराधिकारी मानी जाने वाली मरियम को दस साल जेल की सजा सुनाई थी, तब नवाज लंदन में कैंसर से पीड़ित अपनी पत्नी कुलसुम के साथ ही थे.

पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) के नेता और परिवार के सदस्य शोक व्यक्त करने के लिए शरीफ के घर पर पहुंच रहे हैं. कुलसुम को शुक्रवार को सुपुर्दे खाक किया जाएगा. नवाज शरीफ के आवास के आसापस सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है और गाड़ियों के आने-जाने में कोई दिक्कत न हो इसके लिए यातायात संचालकों की तैनाती की गयी है.