नोएडा: उत्तर प्रदेश पुलिस के एक कांस्टेबल ने वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल करने वाले एक खबरिया चैनल के दो पत्रकारों के खिलाफ थाना सेक्टर 24 में कल रात प्राथमिकी दर्ज कराई है। अदालत ने इस संबंध में तीन अक्टूबर को ही जनतंत्र चैनल के दो पत्रकारों मुकुल तिवारी और प्रदीप चौधरी के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया था। हालांकि मामला आठ अक्टूबर को दर्ज हुआ है।

कांस्टेबल अरविंद की ओर से थाने में दी गई तहरीर के मुताबिक, दोनों पत्रकारों ने उसे 11 सितंबर को बुलाया और एक वीडियो दिखाकर उसे ब्लैकमेल करने लगे। दोनों ने वीडियो डिलीट करने के एवज में कांस्टेबल से एक लाख रुपये की रकम मांगी।

इस वीडियो में कांस्टेबल कथित रूप से एक व्यक्ति के साथ दुर्व्यवहार करता हुआ नजर आ रहा है। कांस्टेबल ने इस संबंध में अपने चौकी प्रभारी को 11 सितंबर को मामले की जानकारी दी। अगले दिन 12 सितंबर को अरविंद ने इस संबंध में थाने में लिखित शिकायत दी।

तहरीर के मुताबिक, अरविंद ने दोनों पत्रकारों को पैसे नहीं दिए जिसके बाद उन्होंने उसका वीडियो वायरल कर दिया। इस सिलसिले में आला अधिकारियों ने 20 सितंबर को कांस्टेबल को निलंबित कर दिया। निलंबन के बाद कांस्टेबल ने स्थानीय अदालत में अर्जी दी जिसने पुलिस को मामला दर्ज करने का आदेश दिया।

पुलिस उपाधीक्षक नगर राजीव कुमार सिंह ने बताया कि थाना सेक्टर 24 क्षेत्र के हरिदर्शन चौकी पर तैनात कांस्टेबल अरविंद की तहरीर पर हमने दोनों पत्रकारों मुकुल तिवारी और प्रदीप चौधरी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।