जयपुर: निर्वाचन आयोग ने आचार संहिता लागू होने के बाद राज्य में बड़ी संख्या में शिक्षकों व बीएलओ के तबादलों पर आपत्ति जताते हुए इस बारे में मुख्य सचिव को पत्र लिखा है।

रपटों के अनुसार शनिवार को आचार संहिता लागू होने के बाद पिछले दो दिन में बड़ी संख्या में तृतीय श्रेणी शिक्षकों, प्रधानाध्यापकों व बीएलओ के तबादले किए गए हैं। ये तबादले कथित तौर पर पूर्व तारीख (बैकडेट) से किए गए।

इस बारे में पूछे जाने पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने यहां संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने इस मुद्दे को मुख्य सचिव के समक्ष उठाया है। इस बारे में जिला निर्वाचन अधिकारियों को भी अवगत कराया जा रहा है।

कुमार ने कहा,‘‘मैंने मुख्य सचिव को पत्र लिखा है कि जो भी तबादले आचार संहिता लागू होने के बाद हुए हैं वे मान्य नहीं होंगे। जिन तबादलों में लोगों ने आचार संहिता लागू होने तक पदभार ग्रहण नहीं किया था वे अब ‘ज्वाइन’ भी नहीं कर सकते हैं।’’

उन्होंने कहा,‘‘हम इस पत्र की प्रति सभी जिला कलेक्टरों को भी आज भेज रहे हैं। शिक्षकों व बीएलओ के मामले में मैंने खुद शिक्षा निदेशक से कहा है कि इसकी पालना नहीं होगी। हम लिखित में पत्र भी जारी कर रहे हैं।’’

उल्लेखनीय है कि निर्वाचन आयोग ने राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कार्यक्रम की घोषणा शनिवार को की। इसके तहत मतदान सात दिसंबर को होगा।