भोपाल: मध्य प्रदेश में सरकार से नाराज चल रहे संत समाज ने शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. ग्वालियर में 13 अखाड़ों के संतों ने शिवराज सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकने का संकल्प किया. इसकी अगुवाई कंप्यूटर बाबा कर रहे हैं जो कुछ दिनों पहले तक शिवराज सरकार की कैबिनेट में राज्य मंत्री थे.

बता दें कि सीएम शिवराज से नाराज चल रहे 13 अखाड़ों के संत शिवराज सरकार के खिलाफ एकजुट हो गए हैं. मंगलवार को ग्वालियर में साधु संतों ने मन की बात कार्यक्रम के तहत शिवराज सरकार को उखाड़ फेंकने की बात दोहराई. उन्होंने शिवराज सरकार पर संतों और हिंदू समाज की अनदेखी का आरोप लगाया.

कभी शिवराज सरकार की तारीफों के पुल बांधने वाले कंप्यूटर बाबा इस बार विधानसभा चुनाव में सीएम शिवराज के लिए मुसीबत खड़ी कर रहे हैं. 13 अखाड़ों के संतों ने राम मंदिर के मुद्दे पर केंद्र सरकार को भी निशाने पर लिया.

साधु संतों ने इससे पहले इंदौर में भी मन की बात की थी और शिवराज सरकार को सत्ता से बेदखल करने का संकल्प किया था. जाहिर है कि चुनावों में हिदुत्व का नारा बुलंद करने वाली पार्टी बीजेपी के विरोध में अब साधु संत ही खड़े दिख रहे हैं.