राम मंदिर मुद्दे के गर्माने और दिवाली मनाने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अयोध्या दौरे के बीच यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य का बड़ा बयान सामने आया है. केशव मौर्य ने मंगलवार को कहा कि राम मंदिर का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में है इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी इसके निर्माण पर फैसला नहीं ले सकते हैं. हालांकि, केशव मौर्य ने कहा कि बीजेपी राम मंदिर के लिए प्रतिबद्ध है.

केशव मौर्य ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के अपने वादे पर हम प्रतिबद्ध हैं और अयोध्या में बाबर के नाम पर किसी भी निर्माण को होने नहीं दिया जाएगा. मौर्य ने कहा कि ये मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है और बातचीत के जरिए समाधान की गुंजाइश भी बनी हुई है. जब ये विकल्प खत्म हो जाएंगे तो पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व आगे के कदम पर फैसला करेगा.

यूपी के डिप्टी सीएम बोले कि हम संतों की भावनाओं को समझते हैं. लेकिन कांग्रेस के कारण राम मंदिर के निर्माण में देरी हुई. विपक्ष के जो लोग इस मामले पर सियासत कर रहे हैं उन्हें याद होगा कि सीएम योगी ने पिछले दिवाली समारोह में अयोध्या में भव्य राम मूर्ति के निर्माण का ऐलान किया था. हमारी सरकार अयोध्या के चौमुखी विकास के लिए प्रतिबद्ध है.

आपको बता दें कि अयोध्या में मंदिर निर्माण को लेकर इससे पहले भी केशव मौर्य कई बयान दे चुके हैं. अभी कुछ दिन पहले ही उन्होंने कहा था कि वह अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की तारीख नहीं बता सकते हैं.

केशव मौर्य का कहना था, ''दबाव या प्रभाव की बात नहीं है...जो मामला कोर्ट में है उस पर हम कुछ नहीं कह सकते हैं...लेकिन अयोध्या में रामलला की जन्मभूमि पर भव्य मंदिर जरूर बनेगा, कब बनेगा ये तिथि हम नहीं बता सकते हैं...ये हमारे हाथ में नहीं है, ये कोर्ट के हाथ में है."

गौरतलब है कि मंदिर निर्माण पर जारी चर्चा के बीच आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या में ही रहेंगे. अयोध्या में इस बार भव्य दिवाली का आयोजन किया जा रहा है.