इस्लामाबाद: भारत की परमाणु पनडुब्बी आई.एन.एस. अरिहंत की हालिया तैनाती ने पाकिस्तान की नींद उड़ा दी है। उसने इसे लेकर अपनी चिंता जाहिर की है। पाकिस्तान विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि यह घटनाक्रम दक्षिण एशिया में दागने के लिए तैयार परमाणु आयुध की प्रथम वास्तविक तैनाती है, जो न सिर्फ हिंद महासागर के तट पर स्थित देशों के लिए, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लिए भी चिंता का विषय है।

आई.एन.एस. अरिहंत ने इस हफ्ते अपनी प्रथम प्रतिरोधी गश्त सफलतापूर्वक पूरी की है जिससे भारत उन गिने-चुने देशों में शुमार हो गया है जो इस तरह की पनडुब्बी का डिजाइन तैयार करने, उसका निर्माण करने और उसे परिचालित करने में सक्षम हैं। फैसल ने कहा कि भारत द्वारा मिसाइल परीक्षणों को बढ़ाया जाना, परमाणु हथियारों का प्रदर्शन और उनकी तैनाती मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था (एम.टी.सी.आर.) से भारत को मिलने वाले लाभों के आकलन की मांग करती है।