नई दिल्लीः अमरीका को पीछे छोड़ भारत दुनिया का दूसरा बड़ा स्मार्टफोन बाजार बन गया है। जुलाई-सितंबर में भारत में 4.04 करोड़ स्मार्टफोन बिके। इस दौरान अमेरिका में बिक्री 4 करोड़ यूनिट रही। चीन 10.06 करोड़ स्मार्टफोन की बिक्री के साथ पहले नंबर पर है। रिसर्च फर्म कैनालिस की रिपोर्ट में ये आंकड़े सामने आए। इस साल जुलाई-सितंबर में दुनियाभर में स्मार्टफोन की कुल बिक्री 34.89 करोड़ यूनिट रही। पिछले साल जुलाई-सितंबर की तुलना में यह 7.2% कम है। ग्लोबल बिक्री में लगातार चौथी तिमाही में गिरावट आई है।

दुनिया भर में जुलाई-सितंबर, 2018 तिमाही के दौरान सालाना आधार पर स्मार्टफोन की शिपमेंट 7.2 फीसदी की गिरावट के साथ 34.89 करोड़ यूनिट रह गई। कैनालिस ने कहा कि यह लगातार चौथी तिमाही है, जब शिपमेंट में गिरावट दर्ज की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, ‘यह 2015 के बाद लगातार तीसरी तिमाही में सबसे खराब प्रदर्शन रहा। वहीं टॉप 10 मार्केट में से 7 में सालाना आधार पर गिरावट दर्ज की गई। इसकी वजह स्मार्टफोन रिप्लेसमेंट साइकल का लंबा खिंचना, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ट्रेडिंग के हालात बदतर होना और बड़े चीनी वेंडर्स से तरफ से कॉम्पिटीशन में बढ़ोतरी रही।

देश  जुलाई-सितंबर में स्मार्टफोन की बिक्री कमी/बढ़ोतरी
इंडोनेशिया   89 लाख  +13.2%
रूस  88 लाख +11.5%
जर्मनी  55 लाख +2.4%
चीन  10.06 करोड़ -15.2%
भारत 4.04 करोड़ -1.1%

कैलेंडर वर्ष की तीसरी तिमाही के दौरान सैमसंग का मार्केट शेयर 20.4 फीसदी, हुआवेई का 14.9 फीसदी, ऐप्पल का 13.4 फीसदी, शाओमी का 9.6 फीसदी और ओप्पो का 8.9 फीसदी रहा। कैनालिस के रिसर्च मैनेजर रुषभ दोषी ने कहा, ‘दुनिया भर में स्मार्टफोन मार्केट को अप्रत्याशित चुनौतियों का सामना करना पड़ा है। इसकी वजह वेंडर और देश के स्तर पर मार्केट में व्यापक बदलाव रहे हैं। इससे मार्केट में बदलाव के साथ तालमेल बिठाने वाले आक्रामक वेंडरों को ग्रोथ के मौके मिल रहे हैं।’