रायपुर: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में सुरक्षा बलों ने 'ऑपरेशन प्रहार' में नौ नक्सलियों को मार गिराया है. इस दौरान दो पुलिस जवान भी शहीद हुए हैं. राज्य के नक्सल विरोधी अभियान के विशेष पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने सोमवार को बताया कि सुकमा जिले के किस्टाराम और चिंतागुफा थाना क्षेत्र में पुलिस दल ने मुठभेड़ में नौ नक्सलियों को मार गिराया है. वहीं इस घटना में डीआरजी के दो जवान डेरदो रामा और माड़वी जोगा शहीद हो गए हैं.

Chhattisgarh: Bodies of 9 Naxals recovered today following an encounter with security forces near Bijapur. 2 security personnel also lost their lives. A huge cache of weapons has been recovered. More details awaited. pic.twitter.com/0LtpsAo39M

— ANI (@ANI) November 26, 2018

डीएम अवस्थी ने बताया कि नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत रविवार को आपरेशन प्रहार-4 शुरू किया गया. इस अभियान में एसटीएफ, डीआरजी और सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के जवान शामिल हैं. इस अभियान में एसटीएफ की दो टीम, डीआरजी सुकमा की 10 टीम, और कोबरा की चार टीमों को मिलाकर 12 सौ जवानों ने हिस्सा लिया. इसके साथ तेलंगाना के 150 जवान भी थे.

डीएम अवस्थी ने आगे बताया कि यह अभियान माओवादियों के बटालियन नंबर एक के कोर क्षेत्र साकलेर, टोंडामरका और सालेतोंग में चलाया गया था. यह स्थान सुकमा, बीजापुर और कोत्तागुड़ेम (तेलंगाना) के त्रिकोण में स्थित है.

अधिकारी ने बताया कि दल जब आज सुबह क्षेत्र में पहुंचा तब नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी. इसके बाद पुलिस दल ने भी जवाबी कार्रवाई की. यह मुठभेड़ लगभग डेढ़ घंटे तक जारी रही. इस दौरान कई माओवादियों के मारे जाने की सूचना है. सुरक्षा बल ने अब तक आठ माओवादियों का शव, एक एसएलआर, बोल्ट एक्शन गन, 315 बोर रायफल समेत कुल 10 हथियार, बम और अन्य सामान बरामद किया है। इस घटना में दो जवान शहीद हुए हैं.

मुठभेड़ में मारे गए दो नक्सलियों की पहचान डिविजनल कमेटी सदस्य ताती भीमा और महिला नक्सली पोड़ियम राजे के रूप में की गई है. दोनों के सर पर आठ लाख रूपए का ईनाम घोषित है. उन्होंने बताया कि एक अन्य घटना में सुकमा जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र में कोबरा बटालियन के दल ने ऐलमागुंडा गांव के करीब एक नक्सली को मार गिराया है. इस तरह आज पुलिस दल ने कुल नौ नक्सलियों को मार गिराया है.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुकमा जिले के साकलेर क्षेत्र में भारतीय वायु सेना द्वारा एमआई 17 हेलीकाप्टर को उतारकर मारे गए माओवादियों और शहीद जवानों के शवों को बाहर निकाला गया है. सुरक्षा बलों का लौटना जारी है.

अवस्थी ने बताया कि राज्य के नक्सल प्रभावित कोर क्षेत्रों सुकमा, बीजापुर और नारायणपुर के संवेदनशील इलाकों में पिछले दो वर्षों में माओवादियों के खिलाफ व्यापक अभियान चलाया गया है. इसी कड़ी में आपरेशन प्रहार-4 किया गया. राज्य के बीजापुर जिले के मददेड़ और गंगालूर थाना क्षेत्र में पुलिस दल ने रविवार को मुठभेड़ में दो नक्सलियों को मार गिराया था.