झालावाड़ से बीजेपी के सांसद दुष्यंत सिंह ने मानवेंद्र सिंह को 'दल बदलने वाला' करार देते हुए रविवार को कहा कि झालरापाटन सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार 'पैराशूट प्रत्याशी' हैं और मतदाता उन्हें वापस वहीं भेज देंगे, जहां से वह आते हैं. दुष्यंत सिंह झालरापाटन सीट पर मानवेंद्र सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ रहीं अपनी मां और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का चुनाव प्रचार अभियान संभाल रहे हैं. मुख्यमंत्री चुनाव प्रचार के लिए राजस्थान में घूम रही हैं.

दुष्यंत सिंह ने कहा कि वसुंधरा राजे ने विधानसभा क्षेत्र में बहुत मेहनत की है और उनके किए गए विकास के कार्य 'असाधारण' हैं. दुष्यंत सिंह ने कहा कि पिछले 30 साल में झालावाड़ और बारन में बड़े बदलाव आए हैं. उन्होंने कहा, " राजे के लिए मतदाता उनके परिवार की तरह हैं और यही परिवार वास्तव में उनके लिए चुनाव प्रचार कर रहा है.' झालावाड़ के सांसद ने कहा कि उनकी मां के किए गए विकास संबंधी कार्यों के उलट, मानवेंद्र सिंह झालावाड़ से 700-800 किलोमीटर दूर से आते हैं.

सांसद ने कहा, " मानवेंद्र सिंह कांग्रेस अध्यक्ष (राहुल गांधी) के यहां भेजे गए हैं. कुछ महीने पहले कांग्रेस अध्यक्ष जब यहां आए थे तो उन्होंने मंच से कहा था कि वह राजस्थान में बाहर का कोई उम्मीदवार नहीं उतारेंगे.' दुष्यंत ने कहा "लेकिन मानवेंद्र को झालरापाटन में पैराशूट उम्मीदवार बनाया गया. इसलिए हमारे मतदाता, जो हमारा परिवार हैं, यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि मानवेन्द्र को वहीं वापस भेज दिया जाए, जहां से वह आते हैं."

मानवेंद्र सिंह बीजेपी के पूर्व नेता जसवंत सिंह के बेटे हैं. बीजेपी से कांग्रेस में शामिल होने के कुछ सप्ताह बाद ही सिंह को पार्टी ने राजे के खिलाफ खड़ा किया है. दुष्यंत से जब दोनों उम्मीदवारों के बीच राजपूत वोट बंटने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, " मेरी दादी क्षत्रिय थीं और मेरी मां राजपूत हैं. अपने विरोधी के उलट मेरी मां सभी समुदाय में विश्वास रखती हैं और सभी 36 समुदाय मुख्यमंत्री के लिए मतदान करेंगे.'