छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान हो चुका है और EVM को कड़ी सुरक्षा में रखा गया है, लेकिन मशीनों की सुरक्षा में सेंध को लेकर एक के बाद एक नए मामले सामने आ रहे हैं. कांग्रेस इससे बेहद खफा है और पार्टी ने चुनाव आयोग को बीजेपी के लिए काम करने का आरोप लगाया. आरोप है कि स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा में तैनात BSF का एक जवान लैपटॉप चला रहा था लेकिन शिकायत के बाद भी अफसरों ने कोई बड़ा एक्शन नहीं लिया.

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने बुधवार को छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू पर सरकारी दबाव में बीजेपी को संरक्षण देने का खुले तौर पर आरोप लगाया. उन्होंने कांग्रेस की शिकायतों का निपटारा नहीं किए जाने को लेकर सुब्रत साहू की शिकायत भारत निर्वाचन आयोग से भी की. हालांकि राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने कांग्रेस की शिकायतों को सिरे से खारिज कर दिया.

ताजा मामला बेमेतरा जिले के स्ट्रांग रूम के पास एक BSF जवान को लैपटॉप का उपयोग करते देखे जाने से जुड़ा है. इस मामले में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी छत्तीसगढ़ के रवैये से कांग्रेसी आग बबूला हो गए हैं. उन्होंने बेमेतरा में स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर भारी हंगामा किया.

हालांकि कांग्रेस की शिकायत के बाद कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी महादेव कावरे ने BSF जवान से लैपटॉप जब्त कर लिया है. उधर, कांग्रेसियों के हंगामे के बाद एसपी ने स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा बढ़ा दी है.

इससे पहले पिछले हफ्ते धमतरी जिला मुख्यालय में भी कांग्रेसियों ने एक ऐसे ही मामले को लेकर हंगामा किया था. यहां एक तहसीलदार समेत तीन अनधिकृत व्यक्ति लैपटॉप समेत रूम परिसर में दाखिल हो गए थे.

मामले की जांच में तहसीलदार दोषी पाए गए थे. रिपोर्ट मिलने के बाद मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने उस तहसीलदार को सस्पेंड कर दिया था. इस घटना से अभी पूरी तरह से पर्दा हटा नहीं कि बेमेतरा में BSF जवान के लैपटॉप सहित स्ट्रॉन्ग रूम के करीब पाए जाने की घटना सामने आ गई. कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने BSF के जवान को तत्काल गिरफ्तार कर पूछताछ करने की मांग की है.

इस मामले में साजा विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी रविंद्र चौबे ने बताया कि मंगलवार शाम को स्ट्रॉन्ग रूम के पास एक पुलिस अधिकारी और BSF का जवान लैपटॉप चला रहा था. यह पूरी तरह से गलत है. नियमों के मुताबिक कोई भी स्ट्रॉन्ग रूम के आसपास ऐसा नहीं कर सकता.

उन्होंने आरोप लगाया कि कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी से लेकर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी तक इस मामले को हल्के में ले रहे हैं. हालांकि कांग्रेस की शिकायत के बाद बेमेतरा कलेक्टर महादेव कावरे ने कहा है कि जवान से लैपटॉप को जब्त कर लिया गया है. पूछताछ के बाद BSF के जवान के ऊपर कार्रवाई की जाएगी. बेमेतरा के स्ट्रांग रूम में तीन विधानसभा सीटों नवागढ़, साजा और बेमेतरा विधानसभा का ईवीएम रखी हुई हैं.