सोना हमारे स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है मगर कई बार गलत तरीके से सोने के कारण भी कई तरह की परेशानियां झेलनी पड़ जाती हैं। एक शोध के मुताबिक ज्यादातर लोग अपनी पूरी जिंदगी गलत तरीके से सोते हैं, जिसका परिणाम शरीर में दर्द, हड्डियों के रोग और तंत्रिका तंत्र के रोगों के रूप में सामने आता है।

अगर आप ठीक तरह से सोते हैं, तो 6-7 घंटे की नींद आपके लिए पर्याप्त है और इससे पूरे शरीर को फिर से काम करने की एनर्जी मिल जाती है। आइए आपको बताते हैं सोने की कुछ ऐसी पोजीशन्स, जिनमें सोता आपके लिए फायदेमंद होता है।

पीठ के बल सोएं
पीठ के बल सोना, सोने की सबसे आदर्श स्थिति है। इसे सोल्जर स्लीपिंग पोजीशन भी कहते हैं। डॉक्टर्स अक्सर इस पोजीशन में सोने की सलाह देते हैं। इससे आपके रीढ़ की हड्डी सीधी रहती है और पेट में अनावश्यक एसिड नहीं बनता है।

कमर के बल सोएं
कमर के बल सोते समय कमर के कर्व को ठीक बनाये रखने के लिए घुटनों के नीचे तकिया लगाएं। इससे आपकी लोअर बैक का कुदरती कर्व बना रहेगा और उस पर दबाव भी कम पड़ेगा। कमर को अतिरिक्‍त सपोर्ट देने के लिए आप तकीये की जगह तौलिया रोल करके भी लगा सकते हैं। अगर आप कमर के बल सोते हैं, तो कोशिश करें कि आप सिर के नीचे तकिये का इस्‍तेमाल न करें क्‍योंकि इससे आपका सिर एक अप्राकृतिक कोण पर मुड़ जाता है। आपकी दोनों टांगें सीधी होनी चाहिए। इससे आपकी कमर और कूल्‍हे की मांसपेशियों पर अधिक जोर नहीं पड़ता। आप आराम से सो सकते हैं।

करवट सोना भी है अच्छा
सोने के लिए सबसे अच्‍छी पोजीशन करवट लेटना है। आपको ऐसे लेटना चाहिए कि आपकी दोनों टांगें साथ हों। इस पोजीशन में सोने से आपके शरीर पर बहुत अधिक दबाव नहीं पड़ता। आपका श्रोणिक क्षेत्र भी सही रहता है, और साथ ही इससे आपके नर्वस सिस्‍टम भी सही काम करता रहता है। अगर आप दोनों टांगों के बीच तकिया रख सकें, तो यह सोने की सबसे बेहतर पोजीशन हो सकती है।

तकिया लगाकर सोएं
सिर के नीचे लगाया जाने वाला तकिया भी महत्‍वपूर्ण होता है। अगर आप करवट लेकर सोते हैं, तो तकिया सिर और गर्दन को सही सपोर्ट देने वाला होना चाहिये। इससे रीढ़ की हड्डी को भी सपोर्ट मिलता रहता है। यह तकिया कमर के बल सोने वालों के सिर के नीचे लगने वाले तकिये से थोड़ा मोटा होना चाहिये। कमर के बल सोने वालों का तकिया आपकी गर्दन और पलंग के बीच लगना चाहिये और सिर आगे की ओर नहीं झुका होना चाहिये।