मुंबई: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) सुप्रीमो राज ठाकरे शनिवार को शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मिलने पहुंचे. दरअसल, राज ठाकरे अपने बेटे की शादी का निमंत्रण देने उद्धव ठाकरे के आवास 'मातोश्री' पहुंचे थे. बता दें कि राज ठाकरे के बेटे अमित ठाकरे की शादी इसी महीने 27 जनवरी को होनी है. बता दें कि महाराष्ट्र की राजनीति में उस समय बड़ा बदलाव आया था, जब शिवसेना सुप्रीमो बाल ठाकरे ने अपने बेटे उद्धव ठाकरे को पार्टी की कमान दी थी. इसके चलते राज ठाकरे (बाल ठाकरे के भतीजे) और शिवसेना के बीच दूरी बढ़ गई थी.

#Mumbai: MNS's Raj Thackeray visited Shiv Sena's Uddhav Thackeray's residence to invite him to the wedding ceremony of his son Amit Thackeray. He is due to get married on January 27. pic.twitter.com/E4cRHocmon

— ANI (@ANI) January 5, 2019

सूत्रों की मानें तो, राज ठाकरे जल्द ही दिल्ली आकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भी अपने बेटे की शादी का निमंत्रण दे सकते हैं. 2019 लोकसभा चुनाव से पहले राज ठाकरे का नेताओं से मिलने का ये सिलसिला कहां तक जाएगा ये वक्त ही बता सकता है. लेकिन, राज ठाकरे के इस कदम से सियासी हलकों में खलबली मच गई है. खासकर महाराष्ट्र की राजनीति में इस कदम को अलग ही नजरिए से देखा जा रहा है.

राज ठाकरे ने शिवसेना से अलग होने के बाद महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) का पार्टी बनाई थी. बता दें कि बाल ठाकरे द्वारा उद्धव ठाकरे को पार्टी अध्यक्ष बनाने से राज ठाकरे नाराज हो गए थे. दरअसल, महाराष्ट्र में कहा जाता था कि राज्य की राजनीति में शिवसेना का उत्तराधिकारी राज ठाकरे ही हो सकते हैं.

दोनों भाईयों के बीच राजनीतिक रूप से दूरी बढ़ने के बाद से उनकी मुलाकात कम ही होती हैं. इससे पहले साल 2012 में शिवसेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को सीने में दर्द की शिकायत के बाद मुम्बई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इसके बाद मनसे प्रमुख राज ठाकरे उनसे मिलने अस्पताल पहुंचे थे. उद्धव को अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद राज ठाकरे अपनी मर्सिडीज कार में उन्हें लेकर मातोश्री भी गए थे.