नई दिल्ली: टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीत कर इतिहास रच दिया है. टीम अभी इस समय इस खास जीत का जश्न मना रही है, लेकिन जल्दी ही उसे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शनिवार से शुरू होने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए खुद को तैयार करना होगा. अब 2019 में टीम इंडिया जुलाई से पहले कोई भी टेस्ट मैच नहीं खेलेगी. इसकी वजह है मई के महीने में शुरु होने जा रहा क्रिकेट का महाकुंभ यानी आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप टूर्नामेंट. इसकी तैयारी के लिहाज से यह वनडे सीरीज दोनों ही टीमों के लिए ज्यादा ही खास है. पिछली बार टीम इंडिया का ऑस्ट्रेलिया में वनडे रिकॉर्ड अच्छा नहीं था.

पिछली बार टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में पांच वनडे मैचों की सीरीज साल 2016 में खेली थी. यह सीरीज टीम इंडिया ने 1-4 से गंवाई थी. इस सीरीज की सबसे खास बात यह थी की टीम इंडिया ने सीरीज में पहले चार मैचों में हार के बाद पांचवा वनडे मैच जीता था. मजेदार संयोग यह है कि यह आखिरी मैच सिडनी में हुआ था जहां टीम इंडिया इस बार सीरीज का पहला मैच खेलने जा रही है.  

इस सीरीज में टीम इंडिया की कप्तानी महेंद्र सिंह धोनी ने की थी. पिछली बार विराट कोहली के अलावा शिखर धवन, एमएस धोनी, रोहित शर्मा, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, और जसप्रीत बुमराह उस सीरीज में मैच खेले थे जो कि इस बार की टीम इंडिया में भी शामिल किए गए हैं. इस बार टीम की कप्तानी भले ही धोनी के बजाए विराट के हाथों में है, लेकिन धोनी की भूमिका में बनी रहेगी विराट उनसे सलाह और उनके अनुभव का लाभ लेते रहेंगे.

पर्थ के मशहूर वाका मैदान पर हुए 2016 की सीरीज के पहले मैच में धोनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी को चुना.  रोहित शर्मा की तूफानी 171 रनों की पारी के दम पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 310 रन का लक्ष्य दिया. ऑस्ट्रेलिया ने कप्तान स्टीव स्मिथ और जॉर्ज बेली की शतकीय पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच जीत लिया था. इसके बाद ब्रिस्बेन में फिर एमएस ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और एक बार फिर रोहित ने शतक लगाया. विराट और रहाणे ने भी इस मैच में फिफ्टी लगाई जिससे भारत ने मेजबान टीम को जीत के लिए 309 रनों का लक्ष्य दिया था. इस बार भी एरोन फिंच, शॉन मार्श, जॉर्ज बेली की फिफ्टी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने लक्ष्य हासिल कर लिया.

तीसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी करने को कहा. इस बार विराट कोहली ने शतक और रहाणे के साथ शिखर धवन ने फिफ्टी लगाई और ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 296 रनों का लक्ष्य मिला. इस बार शॉन मार्श (62) और ग्लेन मैक्सवेल (92) की पारी के सहारे ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच भी जीत लिया. चौथे मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी की और एरोन फिंच (107) और डेविड वार्नर (93) की मजबूत पारियों के दम पर भारत तो 348 का लक्ष्य दिया. इसके जवाब में शिखर धवन और विराट कोहली के शतकों के दम पर टीम इंडिया 50 ओवर से पहले ही 323 रन पर ही ऑलआउट हो गई.

आखिरी मैच में धोनी ने टॉस जीतकर पहले फिल्डिंग करने का फैसला किया. ऑस्ट्रेलिया ने वार्नर और मिचेल मार्श के शतकों के दम पर निर्धारित 50 ओवरों में 7 विकेट के नुकसान पर 330 रन बनाए. इसके जवाब में टीम इंडिया के लिए रोहित शर्मा (99), शिखर धवन (78) और मनीष पांडे के नाबाद शतक की मदद से दो गेंद शेष रहते लक्ष्य हासिल कर लिया.  इस मैच में मैन ऑफ द सीरीज रोहित शर्मा रहे थे.

वर्तमान वनडे सीरीज के लिए टीम इंडिया- विराट कोहली (कप्तान) रोहित शर्मा (उपकप्तान), केएल राहुल, शिखर धवन, अंबाती रायडू, दिनेश कार्तिक, केदार जाधव, एमएस धोनी, हार्दिक पांड्या, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर  कुमार, जसप्रीत बुमराह, खलील अहमद, मोहम्मद शमी.

वर्तमान वनडे सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया टीम- एरोन फिंच (कप्तान), उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस, मिचेल मार्श, एलेक्स कैरी (विकेटकीपर), जाइ रिचर्डसन, बिली स्टैनलेक, जेसन बेहरेनडोर्फ, पीटर सिडल, नाथन लॉयन, एडम ज़म्पा.