पेशावरः भारत, बांग्लादेश, नेपाल में लोकप्रिय गुलाब जामुन को पाकिस्तान ने आधिकारिक रूप से राष्ट्रीय मिठाई घोषित कर दिया है। हालांकि लोगों की राय इससे थोड़ी अलग है और वे इस घोषणा से ज्यादा खुश नहीं हैं। जलेबी और बर्फी भी इस दौड़ में थीं, लेकिन गुलाब जामुन की लोकप्रियता ने उसे पाकिस्तान की राष्ट्रीय मिठाई बना दिया।

हाल ही में राष्ट्रीय मिठाई की खोज में पाकिस्तान की सरकार ने ट्विटर पर नागरिकों से यह पूछने का फैसला किया कि उपरोक्त में से वे किसे देश की राष्ट्रीय मिठाई के रूप में किसे चुनेंगे। गुलाब जामुन को सबसे ज्यादा वोट मिले और वो स्पष्ट विजेता के रूप में उभरा।

Poll Question: What is the National Sweet Of Pakistan?
Answer: The right answer is Gulab Jamun. pic.twitter.com/zL0jgnjX06

— Govt of Pakistan (@pid_gov) January 1, 2019

जलेबी दूसरे स्थान पर रही। लगभग 15,000 लोगों ने इस पोल में मतदान किया। गुलाब जामुन को 47%, जलेबी को 34% और बर्फी को 19% वोट मिले। सबसे ज्यादा वोट मिलने के बाद इसे 'कौमी मिठाई' घोषित किया गया।

हालांकि, पाकिस्तान में कई लोगों ने 'एकतरफा' राष्ट्रीय मिठाई पोल पर नाराजगी जताई और कहा कि मतदान 'अनुचित' और 'धांधली' से भरा था। असहमति का उनका कारण यह था कि सरकार ने मतदान केवल अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया था।

What is the National Sweet of Pakistan?

— Govt of Pakistan (@pid_gov) January 1, 2019

कई लोगों ने कहा कि जलेबी और बर्फी, गुलाब जामुन के साथ प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकते क्योंकि सरकार के आधिकारिक ट्विटर एकाउंट के केवल 4.28 लाख फॉलोअर्स हैं। बताते चलें कि पाकिस्तान में करीब 3.5 करोड़ लोग सोशल मीडिया में सक्रिय हैं। मिठाई प्रेमियों ने कहा कि सरकार को पोल को अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे इंस्टाग्राम और फेसबुक पर भी पोस्ट करना चाहिए था। स्थानीय समाचार वेबसाइट समा पर एक वीडियो भी पोस्ट किया गया है। इसमें कई लोग यह कहते हुए दिख रहे हैं कि मिठाई सर्वे नामंजूर है।