भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने बुधवार को भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पांड्या और लोकेश राहुल को 'कॉफी विद करण' शो पर महिलाओं पर उनके कमेंट्स के लिए कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। इन कमेंट्स की इतनी आलोचनाओं के बाद बीसीसीआई खिलाड़ियों के इस तरह से टीवी शो में शिरकत करने पर रोक भी लगा सकता है। कमिटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स (CoA) ने दोनों खिलाड़ियों को नोटिस भेजा है।

'कॉफी विद करण' चैट शो पर पांड्या के कमेंट्स की काफी आलोचना हुई जिन्हें 'सेक्सिस्ट' करार किया गया। बाद में उन्होंने अपने कमेंट्स के लिए माफी मांगी और कहा कि वो शो के हिसाब से भावनाओं में बह गए थे। वहीं राहुल ने इन आलोचनाओं पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। बीसीसीआई का काम देख रही प्रशासकों की समिति (सीओए) के चेयरमैन विनोद राय ने कहा, 'हमने हार्दिक पांड्या और लोकेश राहुल को उनके कमेंट्स के लिए कारण बताओ नोटिस भेजा है। उन्हें इसके बारे में स्पष्टीकरण के लिए 24 घंटे का समय दिया गया है।'

पांड्या ने ट्विटर पर पोस्ट किया, 'कॉफी विद करण में अपने कमेंट्स के लिए मैं हर उस व्यक्ति से माफी मांगना चाहूंगा जिन्हें मैंने किसी भी तरह से दुख पहुंचाया है। ईमानदारी से कहूं तो, मैं शो के नेचर के साथ भावनाओं में बह गया। मैं किसी भी तरीके से किसी की भी भावनाओं को आहत या किसी का अनादर नहीं करना चाहता था।'

शो पर पांड्या ने कई महिलाओं से अपने संबंधों को बढ़ा चढ़ाकर बताया था और ये भी कहा था कि वो अपने माता पिता से भी इसके बारे में काफी खुले हुए हैं। ये पूछने पर कि वो क्लब में महिलाओं के नाम क्यों नहीं पूछते तो पांड्या ने कहा, 'मैं उन्हें (महिलाओं) देखना चाहता हूं कि उनकी चाल ढाल कैसी है। मैं थोड़ा ऐसा ही हूं इसलिए मुझे ये देखना होता है कि वे कैसा बर्ताव करेंगी।'

इसके तुरंत बाद आलोचनाओं का दौर शुरू हो गया और पता चला कि बीसीसीआई के शीर्ष अधिकारियों ने उन्हें फटकार लगाई। सूत्र के अनुसार उनके कमेंट्स को 'मूखर्तापूर्ण और भद्दा' समझा गया और शायद इसका असर भारतीय क्रिकेटरों के इस तरह के गैर-क्रिकेट संबंधित शो में भाग लेने पर पड़ सकता है।  बीसीसीआई के एक सूत्र ने कहा, 'इस बारे में विचार किया जाएगा कि खिलाड़ियों को इस तरह के शो में भाग लेने की अनुमति दी जाए या नहीं, जिनका क्रिकेट से कुछ लेना देना नहीं होता।