मकर संक्रांति का पर्व देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है. इस त्योहार को हिंदूओं के बड़े पर्वों में से एक माना जाता है, क्योंकि इस दिन से सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होने लगता है. ये तो हुई पौराणिक महत्व की बात, लेकिन अगर जायके की बात करें, तो ये त्योहार तिल के लड्डुओं के लिए भी जाना जाता है.

मकर संक्रांति पर घर-घर में तिल-गुड़ के लड्डू बनाए जाते हैं, जो कि सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं. आइए हम आपको बताते हैं तिल के लड्डुओं से होने वाले ऐसे फायदे के बारे में, जो छोटी- मोटी बीमारियों को दूर भगाने में मदद करेंगे.

  • एसिडटी से दे छुटकारा

तिल का लड्डू पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है. तिल-गुड़ के लड्डू खाने से गैस, कब्ज जैसी बीमारियों में राहत मिलती है. यही नहीं, इसे खाने से पेट साफ होने में भी मदद मिलती है.

  • हड्डियां होंगी मजबूत

तिल के लड्डू खाने से शरीर को भरपूर मात्रा में कैल्शियम मिलता है. इसकी तासीर गर्म होने के कारण ये हड्डियों के लिए बहुत गुणकारी होता है. ठंड में इसे खाने के खास फायदे होते हैं, क्योंकि इसे खाने से शरीर को ठंड से लड़ने की ताकत मिलती है. तिल के लड्डू भूख बढ़ाने में भी मदद करते हैं.

  • ब्लड और स्किन के लिए गुणकारी

तिल का लड्डू एनर्जी से भरपूर होता है. इसे खाकर आप पूरा दिन एनर्जेटिक महसूस करेंगे. ये शरीर में खून की मात्रा को भी बढ़ाने में मदद करता है. सूखे मेवे और घी से बनाए गए तिल के लड्डुओं के भी अनोखे फयदे हैं. बालों और स्किन के लिए भी ये बेहद फायदेमंद होता है.

  • लंग्स के लिए फायदेमंद

लंग्स हमारे शरीर का वो अहम हिस्सा है, जिससे हमारे शरीर में ऑक्सीजन पहुंची है. तिल के लड्डू लंग्स के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं. तिल लंग्स और बॉडी को डिटॉक्सिफाई करने का भी काम करता है.

  • शारीरिक ही नहीं, मानसिक स्वास्थ्य में भी लाभकारी

तिल के लड्डू खाने से शारीरिक ही नहीं, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य भी ठीक रहता है. एक तरफ इसे खाने शरीर की दुर्बलता दूर होती है, दूसरी तरफ इससे डिप्रेशन और टेंशन से निजात पाने में भी मदद मिलती है.