नई दिल्ली: देशभर में विभिन्न मजदूर संघों द्वारा आहूत 48 घंटे की हड़ताल के दूसरे दिन बुधवार को तिरुवनंतपुरम में भारतीय स्टेट बैंक की एक ट्रेजरी शाखा पर हमला किया गया. हड़ताल के दौरान केरल के विभिन्न हिस्सों में ट्रेनों को भी रोका गया. शाखा प्रबंधक ने कहा कि लोगों का एक समूह सुबह लगभग 10 बजे उनके केबिन में आया और कर्मचारियों को धमकी दी, मेज पर लगे कांच और एक कंप्यूटर को क्षतिग्रस्त कर दिया.

उन्होंने बताया कि कोई अतिरिक्त पुलिस सुरक्षा नहीं मांगी गई, क्योंकि सुरक्षा कर्मचारी ड्यूटी पर तैनात थे. तिरुवनंतपुरम रेलवे स्टेशन पर, तिरुवनंतपुरम-हैदराबाद सबरी एक्सप्रेस और वेनाड एक्सप्रेस को रोक दिया गया, जबकि कलामस्सेरी में कोट्टायम-नीलाम्बुर यात्री ट्रेन को थोड़ी देर के लिए रोक दिया गया था. यहां बीजेपी के प्रदर्शन पंडाल में मंगलवार को कथित रूप से पथराव करने वाले सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन (सीटू) के एक कार्यकर्ता को गिरफ्तार किया गया.

भारतीय मजदूर संघ को छोड़कर सभी मजदूर संघों ने केंद्र की कथित 'मजदूर विरोधी' नीतियों के खिलाफ 10 केंद्रीय मजदूर संघों द्वारा आहूत दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल का समर्थन किया है. कई स्थानों पर, दुकानें और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे। बसें और ऑटोरिक्शा भी सड़कों पर नहीं दिखे. कई दुकानदारों ने आरोप लगाया कि उन्हें अपने शटर गिराने के लिए कहा गया. कोच्चि में ब्रॉडवे मार्केट और कोझीकोड़ में मित्तायी थेरुवु (मीठी गली) की अधिकांश कपड़े और मसाले की दुकानें खुली रही. सबरीमला तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, सामाजिक और धार्मिक कार्यों को हड़ताल से छूट दी गई है.