नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली में गुरुवार की सुबह भी ठंड ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया। निम्नतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस से राजधानी दिल्ली के तापमान ने लोगों को फिर से ठिठुरने पर मजबूर कर दिया है। कोहरे का असर भी सड़कों पर खूब दिखा हालांकि आसमान में कुछ समय बाद बादल छंटने के आसार दिखे।

इधर ठंड को देखते हुए रैन बसेरों और विश्राम स्थलों (शेल्टर होम्स) में लोगों की संख्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। शीतलहर के कारण सड़कों के किनारे रहने वाले लोगों का जीना काफी मुश्किल हो या है इस कारण उन्हें अब रैनबसेरों का सहारा लेना पड़ रहा है।

दूसरी तरफ ठंड के साथ-साथ राजधानी में प्रदूषण की मात्रा भी बढ़ती जा रही है। बुधवार को जहां एय़र क्वालिटी 322 के साथ सबसे खराब श्रेणी में रिकॉर्ड की गई, वहीं गुरुवार को ये आंकड़ा कुछ इस प्रकार रहा। दिल्ली के लोधी रोड से सामने आए आंकड़ों के मुताबिक पीएम 2.5 जहां 209 है वहीं पीएम 10 214 है जो खराब श्रेणी में आता है।

बता दें कि पिछले दिनों दिल्ली के आस-पास के राज्यों में खूब बर्फबारी हुई थी जिसके कारण राजधानी में ठंड की मात्रा बढ़ गई थी।साल 2019 के जनवरी महीने के पहले सप्ताह में ही दिल्ली और इसके आस-पास हिमाचल, उत्तराखंड और जम्मू कश्मीर जैसे राज्यों में बीते दिनों से भारी बर्फबारी देखी जा रही है।

 ठंड और शीतलहर से हुआ बुरा हाल; रैनबसेरों में बढ़ी लोगों की तादाद, प्रदूषण की भी दोहरी मार Description: दिल्ली में इन दिनों ठंड से बुरा हाल है। गुरुवार को सुबह का न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शीतलहर से बचने के लिए रैनबसेरों में लोगों की तादाद बढ़ती जा रही है।