हरियाणा: पत्रकार छत्रपति की हत्या के मामले में पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट आज फैसला सुना सकती है. इस मामले का मुख्य आरोपी जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम है. इसके मद्देनजर हरियाणा और पंजाब के कई इलाको में पुलिस हाई अलर्ट पर है. यहां सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

हरियाणा में, खासकर पंचकूला, सिरसा (डेरा मुख्यालय) और रोहतक जिलों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. यहां कानून व्यवस्था से जुड़ी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए राज्य सशस्त्र पुलिस की कई कंपनियों, दंगा विरोधी पुलिस और कमांडो बल को तैनात किया जा रहा है.

#Haryana: Security tightened around Panchkula court ahead of the verdict in the murder case against Dera Sacha Sauda chief Gurmeet Ram Rahim Singh. pic.twitter.com/b6Ky931KbF

— ANI (@ANI) January 11, 2019

हरियाणा के अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) मोहम्मद अकील ने बताया कि हरियाणा में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.

पुलिस अधिकारी ने कहा कि सभी जिलों की पुलिस को लोगों को गैरजरूरी रूप से जमा होने से रोकने और अतिरिक्त निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि कई इलाकों में नाकेबंदी भी की गई है.

Haryana: Security tightened in Rohtak ahead of the verdict in the murder case against Dera Sacha Sauda chief Gurmeet Ram Rahim Singh. pic.twitter.com/PSNxtuvzcc

— ANI (@ANI) January 11, 2019

पुलिस ने कहा कि सिरसा में डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय के नजदीक अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है.

अगस्त 2017 में राम रहीम को सजा सुनाए जाने के दौरान हरियाणा के सिरसा और पंचकूला में हिंसा भड़क गई थी, जिसमें 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हो गए थे.

51 साल का राम रहीम अपनी दो अनुयायियों के बलात्कार के जुर्म में रोहतक की सुनारिया जेल में 20 साल की सजा काट रहा है.