जो वाकई वर्किं ग जर्नलिस्ट हैं और सहाफत की मजबूती के लिए हमेशा लड़ाई लड़ते हैं उन्हें अब कोई निगलेक्ट नहीं कर सकेगा। पत्रकारों की हिफाजत के लिए पत्रकार सुरक्षा कानून भी बनेगा। वहीं भोपाल के पत्रकार भवन की लीज डीड से लेकर दूसरी समस्याओं का समाधान भी जल्द ही होगा।  ये वादे मप्र श्रमजीवी पत्रकार संघ की दसवीं कार्यसमिति की बैठक में आए सूबे के चार मंत्रियों ने किए। इस संघ के खलीफा हैं शलभ भदौरिया। यहां पूरे सूबे से बड़Þी तादात में पत्रकार भोपाल आए थे। शलभ मियां ने जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा को दस सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। इसमें पत्रकारों की लीज डीड भोपाल श्रमजीवी पत्रकार संघ को दिलाने और इस भवन से जुड़ी दूसरी तमाम समस्याओं को हल करने का जिक्र है। इसमें पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग भी की गई। पीसी भाई के अलावा यहां मंत्री ब्रजेंद्र सिंह राठौर,ओमकार सिंह मरकाम, सुखदेव पांसे और लखन घनघोरिया भी आए। ये पेला मौका है जब कमलनाथ सरकार के पांच मंत्री किसी पत्रकार संघ के बुलावे पे एक साथ शामिल हुए हों। मंत्रियों ने कहा कि वो पत्रकारों की सभी मांगें पूरी कराने की कोशिश करेंगे। यहां संघ के मोहम्मद अली, सुरेश शर्मा, केके अग्निहोत्री, कैलाश देवलिया, अरशद अली खान, राजेन्द्र पुरोहित, राजेश द्विवेदी, दिलीप भदौरिया और शिशुपाल सिंह तोमर ने मेहमानों का इस्तगबाल किया। पिरोगराम को पत्रकार रिजवान अहमद सिद्दीकी ने कंडक्ट किया।