सुबह का नाश्ता दिन का सबसे महत्वपूर्ण भोजन है। इसी से मेटाबॉलिज्म बूस्ट होता है और शरीर को दिनभर एनर्जी मिलती है, जिससे आप पूरा दिन अच्छे से काम करते हैं। मगर कुछ लोग ऑफिस में देरी होने या वजन कम करने के चक्कर में ब्रेकफास्ट स्किप कर देते हैं, जोकि सेहत के लिए बिल्कुल गलत है। सुबह का नाश्ता ना सिर्फ आपको दिनभर तरोताजा रखता है बल्कि इससे आप गंभीर बीमारियों से भी बचे रहते हैं।

क्‍या है नाश्‍ता?
ब्रेकफास्‍ट यानी रात भर का 'उपवास' तोड़ना। सुबह का नाश्ता शरीर को एनर्जी देकर दिनभर आपको एनर्जेटिक रखता है। साथ ही ब्रेकफास्ट में जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स शामिल करने से आप हमेशा हैल्दी रहते हैं। अगर आप सुबह का नाश्ता नहीं करते तो आप वजन बढ़ना, हार्ट डिजीज, डायबिटीज और स्ट्रेस जैसी बीमारियों का शिकार हो सकते हैं इसलिए सुबह उठने के 1 घंटे के अंदर ब्रेकफास्ट कर लें। इसके अलावा कई ऐसे कारण हैं जिनके कारण आपको अपना नाश्‍ता नहीं छोड़ना चाहिए।

अस्‍वस्‍थ जीवनशैली
शोध के मुताबिक सुबह का नाश्ता छोड़ना अस्वस्थ जीवनशैली की निशानी है क्योंकि ऐसे लोगों में फास्‍ट-फूड खाने की गलत आदत पड़ जाती है। वहीं सुबह का नाश्ता ना करने वाले लोगों में तंबाकू और अल्‍कोहल के सेवन की स्‍वास्‍थ्‍य को नुकसान पहुंचाने वाली आदतें भी पड़ जाती है। ऐसे में अगर आप इन गलत आदतों से बचना चाहते हैं तो सुबह का नाश्ता जरूर करें।
बढ़ जाता है बीमारियों का खतरा

हेल्दी ब्रेकफास्ट शरीर को ऊर्जा देने के साथ मेटाबॉलिज्‍म को भी दुरुस्‍त रखता है लेकिन जब आप सुबह खाना नहीं खाते तो इससे मेटाबॉलिज्म बिगड़ जाता है, जिसके साथ वजन बढ़ना व हृदय रोग आदि बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। साथ ही इससे आपको चिड़चिड़ापन, हाई कोलेस्ट्रॉल, मासिक धर्म में अन‍ियमितता, याददाश्‍त का कमजोर होना और हार्मोन असंतुलन जैसी हेल्थ प्रॉब्लम्स भी होने लगती है।

थकान का भी बन सकता है कारण
इससे आपको दिन की शुरूआत करने के लिए एक फ्रैश स्टार्ट मिलता है लेकिन ऐसा ना करने पर आप दिनभर थके-थके रहते हैं। साथ ही इसका असर आपकी एकाग्रता पर भी पड़ता है इसलिए सुबह पौष्टिक नाश्ता करना बहुत जरूरी है। इससे मेटाबॉलिज्म भी सही रहता है और आपको वजन कम करने में भी आसानी होती है।
 
इंसुलिन के प्रति अधिक रिस्‍पॉन्‍स
अक्सर ब्रेकफास्ट स्किप करने वाले लोग बाद में ज्यादा कैलोरी वाला फूड खा लेते हैं, जिसका इंसुलिन पर बुरा असर पड़ता है। इससे रक्‍त में इंसुलिन का स्‍तर ग्‍लूकोज के स्‍तर से अधिक हो जाता है, जो एक तरह का मेटाबॉलिक डिस्‍ऑर्डर है। इससे ना सिर्फ मोटापा बढ़ता है बल्कि आप अन्य बीमारियों की चपेट में भी आ जाते हैं।

भूख को करें कंट्रोल
एक स्‍टडी के अनुसार, भरा पेट वजन और भूख दोनों को काबू रखता है। जो लोग नियमित रूप से नाश्‍ता करते हैं उनमें मोटापे या डायबिटीज से ग्रस्‍त होने की आशंका कम होती है। ऐसे में आप भी सुबह का नाश्ता करना ना भूलें।

ब्रेकफास्ट का सही समय
सुबह उठने के एक से डेढ़ घंटे के बीच नाश्ता करने का सही समय है। ज्यादा देर तक भूखे रहने से एनर्जी लेवल स्लो हो जाता है। नाश्ते में प्रोटीन युक्त आहार जैसे परांठा, दही, सब्जी,फल और दूध आदि शामिल कर सकते हैं। सुबह 9 बजे तक ब्रेकफास्ट कर लेना बेस्ट है। आप लंच तक बीच में कई फल या एनर्जी ड्रिंक पी सकते हैं।

स्वस्थ रहने के लिए हेल्दी ब्रेकफास्ट है जरूरी
बहुत से लोग नाश्ते में कार्ब्स और प्रोटीन युक्त चीजों का सेवन नहीं करते लेकिन ब्रेकफास्ट में इन तत्वों का होना बहुत जरूरी है। इससे शरीर में बिना फैट बढ़े एनर्जी मेंटेन रहती है और इससे ब्लड शुगर भी कंट्रोल करने में मदद मिलती है। वहीं एक्सपर्ट के मुताबिक, नाश्ते में आपको एक कटोरी या 5-8 चम्मच अनाज, 10-15 ग्राम लीन प्रोटीन और 1 गिलास जूस लेना चाहिए।